Home बिहार पर्यटन 352वें प्रकाशपर्व के लिए पूरी तरह तैयार है बिहार

352वें प्रकाशपर्व के लिए पूरी तरह तैयार है बिहार

0
1158
bihar breaking news

सिखों के दसवें गुरु श्री गुरु गोविंग सिंह जी महाराज के 352वें प्रकाशपर्व की तैयारियां लगभग पूरी कर ली गयी है। 350वां प्रकाशपर्व कई मायनो में बिहार के लिए इतिहास रचने वाला बीता था। देश विदेश से आने वाले हज़ारों सिख श्रद्धालुओं की मेहमानवाजी कर बिहार ने अपनी एक अलग पहचान बनायीं थी। इस वर्ष 11 से 13 जनवरी तक होने वाले इस प्रकाशपर्व में हज़ारों श्रद्धालुओं के आने की संभावना को देखते हुए बिहार सरकार ने बहुत ही शानदार व्यवस्था की है। मेहमानों के ठहरने के लिए कंगन घाट में गंगा तट पर श्रद्धा की बस्ती का निर्माण किया जा रहा है। इसको पूरा करने में कड़ाके के ठंढ में भी सैकड़ो मजदूर दिन-रात एक कर रहे हैं।

कॉटेज में होगी होटल जैसी सुविधा

कंगन घाट से किला घाट तक बन रहे टेंट सिटी में उत्तम गुणवत्ता वाले स्विस कॉटेज बनाये जा रहे हैं। 30 एकड़ में बन रहे इस टेंट सिटी में प्रकाशपर्व में आने वाले श्रद्धालुओं के लिए बन रहे कॉटेज में रोज़ उपयोग के हर सुविधा होंगी। टेंट सिटी के निर्माण में लगी कंपनी पिरामिड इवेंट मैनेजर के अधिकारी ने बताया की स्विस कॉटेज में दो बेड, गद्दा, टेबल, आरामदेह कुर्सी जैसी चीज़ें होंगी। साथ ही इनमे गीज़र, बॉयलर, टॉयलेट, बेसिन जैसी सुविधाएँ भी होंगी। चार्जिंग पॉइंट के साथ इन कॉटेज में आधुनिक उपयोग की लगभग हर चीज़े उपलब्ध होंगी।

टेंट सिटी में दो गेट प्रवेश और निकास लिए बनाये गए हैं। कुल 3200 श्रद्धालुओं के ठहरने के लिए 200 टेंट और 1800 लोग की क्षमता वाला डोरमेट्री का निर्माण किया गया है। श्रद्धालुओं के लिए दो लंगर हॉल बनाया गया है एक में करीब 5000 और दूसरे में 3000 लोग एक साथ बैठकर लंगर खा सकेंगे। यहां गठरी घर का निर्माण भी किया गया है जिसमे श्रद्धालु अपने सामन सुरक्षित रख सकेंगे।

ये भी पढ़े: बिहटा एयरपोर्ट 2021 तक बनकर होगा तैयार

प्रकाशपर्व पर रहेगी अद्भुत सुरक्षा व्यवस्था

प्रकाशपर्व को लेकर पटना जिला प्रशासन भी अपनी तैयारी कर रही है। रविवार को सुरक्षा का जायजा लेने एसएसपी गरिमा मल्लिक और पूर्व एसपी राजेंद्र सिंह भील तख़्त श्री हरिमंदिर साहिब पहुंचे। यहाँ आने वाले लोगों पर कड़ी नजर रखने का निर्देश भी दिया। एसएसपी ने पार्किंग स्थलों का जायजा भी लिया और फिर मंगलतलाब एवं धवलपुरा में बने अस्थाई थानों का निरिक्षण किया। आस पास की साफ़ सफाई और थानों को व्यवस्थित करने के निर्देश भी दिए। प्रकाशपर्व के दौरान लगभग 6000 पुलिसकर्मी सुरक्षा में तैनात रहेंगे। सुरक्षा में किसी भी तरह का चूक न हो इसके लिए जिला प्रशासन पूरी तरह से कमर कस चुकी है। गुरुद्वारा के आसपास गली मुहल्लों में भी पुलिस बल को तैनात किया जा रहा है। सुरक्षा में ड्रोन का इस्तेमाल कर इसे और भी मजबूत बनाने की कोशिश की जा रही है।

टेंट सिटी बन रहा आकर्षण का केंद्र

गंगा किनारे सैंड पर बने टेंट सिटी स्थानीय लोगो और आने वाले मेहमानो के लिए आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। बीते रविवार को काफी संख्या में लोग दूर दराज़ से पहुंचे। सफ़ेद छत वाले आकर्षण टेंट और बड़े बड़े लंगर हॉल लोगों के मन को प्रफुल्लित कर रहा है। आने वाले पर्यटकों में बस्ती को बैकग्राउंड में ले सेल्फी लेने की भी होड़ रही। शाम होते ही रौशनी में जगमगाता टेंट सिटी और भी खूबसूरत लगने लगी।

हर तरफ उत्सवी माहौल और चेहरों पर तैरती ख़ुशी प्रकाशपर्व के पहले ही बिहार के शानदार मेजबानी का दावा कर रही है।

NO COMMENTS