मुख्यमंत्री ने किया तुतला भवानी धाम में वर्चुअल झूला पथ का उद्घाटन

0
मुख्यमंत्री ने किया तुतला भवानी धाम में वर्चुअल झूला पथ का उद्घाटन
मुख्यमंत्री ने किया तुतला भवानी धाम में वर्चुअल झूला पथ का उद्घाटन

डीएफओ प्रद्युम्न गौरव ने किया शिलापट्ट का अनावरण
सरकार ने 58 लाख की लागत से बना झूला पथ पुल श्रद्धालुओं को किया समर्पित
तिलौथू (रोहतास)। डेहरी अनुमंडल अंतर्गत तिलौथू प्रखंड के थाना क्षेत्र में स्थित मां तुतला भवानी धाम में बुधवार को बहुप्रतीक्षित झूला पुल पथ को वन विभाग द्वारा आमजन श्रद्धालुओं के हवाले कर दिया गया। जी हां आपको बताते चलें कि कई माह से तिलौथू के तुतला भवानी धाम में वन विभाग द्वारा झूला पुल पथ का निर्माण कराया जा रहा था। जो बहुत दिनों से श्रद्धालुओं की झूला पथ पर चढ़कर दर्शन करने जाने की आस लगी थी जो आज पूरा हो गया।

झूला पुल पथ को आमजन श्रद्धालुओं को सौंप दिया गया

इस संबंध में झूला पथ के शीलापट्ट का अनावरण करने आए रोहतास वन प्रमंडल के डीएफओ प्रद्युम्न गौरव ने बताया कि मां तुतला भवानी इको टूरिज्म के तहत 110 मीटर लंबा झूला पुल पथ का निर्माण 58 लाख की लागत से कराया गया। जो आज बनकर पूरी तरह तैयार हो गया। जिसका वर्चुअल उद्घाटन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी की गरिमामयी उपस्थिति में हुआ। डीएफओ ने यह भी बताया कि आज से इस झूला पुल पथ को आमजन श्रद्धालुओं को सौंप दिया गया।

सेंचुरी एरिया को पूरी तरह से प्लास्टिक मुक्त रखा जाएगा

मौके पर उन्होंने कहा कि सेंचुरी एरिया को पूरी तरह से प्लास्टिक मुक्त रखा जाएगा। कचरा फैलाने वालों के विरुद्ध वन विभाग द्वारा कार्रवाई भी की जाएगी। यहां एक शौचालय का भी उद्घाटन किया गया। शेड भी बनाए गए जो झूला पुल से होकर तुतला भवानी के मंदिर तक जाता है। चेंजिंग रूम, सड़क इत्यादि में काम चल रहा है। यह फेज़ वन का काम था, जबकि फेज टू में यहां आनेवाले श्रद्धालु जो पिकनिक भी मनाते हैं। उनके लिए शेड का निर्माण किया जाएगा तथा और व्यवस्था को विकसित की जाएगी। झूला पुल पथ के लिए यहां के लोगों की बहुत लंबे दिनों से मांग थी।

इस झूला पुल पथ पर एक साथ मात्र तीस लोगों को जाने की अनुमति होगी। डीएफओ ने यह भी कहा कि यहां से जो राजस्व आएंगे उसका पूरा उपयोग मां तुतला भवानी धाम के विकास में ही इको विकास समिति के माध्यम से कराया जाएगा। इस उद्घाटन समारोह में वनों के क्षेत्र पदाधिकारी सत्येंद्र शर्मा,वनपाल वाल्मीकि सिंह, तिलौथू थानाध्यक्ष मनोज कुमार, अमझोर थानाध्यक्ष सुरेन्द्र पांडेय, केवल कुमार, डॉ उपेंद्र सिंह, वन विभाग के सिविल इंजीनियर अजय चौहान, एकाउंटेंट शशि शेखर व तिलकधारी सिंह, वन कर्मी पुनिता कुमारी, भीम सिंह समेत सैकड़ों लोग उपस्थित थे।

रोजगार व पर्यटन को विकसित कर राजस्व की प्राप्ति हो सके

मौके पर उपस्थित जिला वन प्रमंडल पदाधिकारी प्रदुमन गौरव ने कहा कि कैमूर पहाड़ी पर बसे पूर्व से चिन्हित तुतला भवानी धाम के अलावे शेरगढ़ किला, रोहतास गढ़ किला, धुआ कुंड, गुप्ता धाम तक जाने के रास्ते को विकसित कर पर्यटन को बढ़ावा दिया जाएगा ताकि स्थानीय लोगों को रोजगार व पर्यटन को विकसित कर राजस्व की प्राप्ति हो सके। वन प्रमंडल पदाधिकारी ने कहा कि कई ऐतिहासिक स्थलों को विकसित कर स्थानीय लोगों को रोजगार दिए जाने एवं पर्यटक स्थलों को विकसित करने की पहल राज्य सरकार द्वारा शुरू कर दिया गया वही दूसरी ओर राष्ट्रीय राजमार्ग 2 पर ताराचण्डी धाम के निकट स्थित माउंटेन व्यू होटल में वन विभाग द्वारा संवाद कार्यक्रम आयोजित किया गया।

जिसमें कई अतिथियों के साथ प्रशिक्षुओं ने भी भाग लिया। उक्त कार्यक्रम में ऑनलाइन उद्घाटन प्रधान सचिव पर्यावरण वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग दीपक कुमार सिंह बिहार सरकार द्वारा किया गया। प्रतीकात्मक रूप से प्रदुमन गौरव भारतीय वन सेवा ने दीप प्रज्वलित कर पर्यावरण संवाद यात्रा का विधिवत उद्घाटन किया।

इस मौके पर प्रधान सचिव द्वारा कार्यों का उद्देश्य पूर्णरूपेण व्याख्यान किया गया। इस अवसर पर पर्यावरणविद पंकज मालवीय एवं अन्य राज्यों से आए मास्टर ट्रेनर द्वारा कार्यक्रम आरंभ करने का विधिवत घोषणा करते हुए संवाद के उद्देश्यों का पूरा करने के लिए वचन दिए।

अब मैं फ्री हो गया हूं, चुनाव लड़ने के सवाल पर…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here