राकेश कपूर का नंदकिशोर यादव पर तंज कहा हमारे विधायक के कारनामे हैं निराले

0
643
bihar breaking news

किसी स्थान विशेष का नामकरण उस इलाके के नामचीन व्यक्ति या राष्ट्रीय स्तर के वैसे सम्मानित व्यक्ति के नाम पर होता है – जिनका देश, समाज के लिए कोई योगदान होता है। लेकिन हमारे स्थानीय विधायक नंदकिशोर यादव जी ने मंगल तालाब स्थित नवनिर्मित मुक्ताकाश मंच का नाम अपने स्वर्गीय पिता पन्ना लाल यादव जी के नाम पर करवा एक नया उदहारण पेश किया है।

मालूम हो कि पटना सिटी का ऐतिहासिक गाँधी सरोवर, मंगल तालाब पर कभी जय प्रकाश नारायण उद्यान हुआ करता था। इस उद्यान में पटना के सात बार महापौर रहे स्व.के.एन.सहाय जी ने अखिल भारतीय महापौर सम्मेलन भी आयोजित किया था।

नंदकिशोर यादव जी के पिता कि जन वितरण प्रणाली की दुकान

उस समय यह दर्शनीय था, इसकी रौनक देखते बनती थी। लेकिन श्री नंदकिशोर यादव जी ने इस उद्यान को योजनाबद्ध तरीके से उजाड़ कर खत्म कर दिया। इस जगह उन्होंने मुक्ताकाश मंच, कैफेटेरिया और गाड़ियों के लिए पार्किग स्थल बनवा दिया। मुक्ताकाश मंच का नामकरण उन्होंने मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार की सहमति से करवा लिया।

आपको बताते चले कि नंदकिशोर यादव जी के पिता स्व.पन्ना लाल यादव जी के नाम एक जन वितरण प्रणाली की दुकान थी। इसके पूर्व वे अपने बड़े भाई स्व.शिव दयाल यादव जी के खांजेकलां स्थित तेल मिल को संभालते थे। स्व.पन्ना लाल यादव जी कोई स्वतंत्रता सेनानी नहीं थे न ही उनका कोई उल्लेखनीय योगदान था। उनकी एकमात्र उपलब्धि विधायक का पिता होना है।

पहले किराया ग्यारह सौ अब मात्र एक सौ रूपया

पहले इसमें कार्यक्रम का किराया ग्यारह सौ रूपया था। लेकिन अब मात्र एक सौ रूपया है फिर भी साल में एक दो कार्यक्रम ही होते हैं। कैफेटेरिया तो आज तक खुला ही नहीं और गाड़ियों का पार्किंग स्थल गंदगी के अम्बार के साथ सूअरों का चारागाह बन गया है और सूअरों को काट कर उसके मांस बिकने अड्डा!

ये भी पढ़े: समाजवादी जनता दल और ओवैसी की पार्टी एक साथ लड़ेगी बिहार विधानसभा चुनाव

खांजेकलां स्थित विधायक महोदय का निवास स्थान भी गुरु स्थान ही है। घाट पर दाह संस्कार हेतु ले जाने वाली अर्थियों का पहला पिण्डदान इसी स्थान पर किया जाता है। विधायक महोदय ने इसी थाना के अन्तर्गत बिजली आफिस, पादरी की हवेली, पटना सिटी के पीछे की कबीर मठ की जमीन हथिया कर कुसुम नगर सहकारी गृह निर्माण सहयोग समिति लि0 के माध्यम से अपने साथ विधायकों व भाजपाईयों की एक कालोनी ही बसा दी है। इनकी अरबों की दौलत विधायक बनने के बाद की है।

क्षेत्र में ऐसे विनाशकारी विकास की आड़ में दौलत इकट्ठा करने वाले विधायक नंदकिशोर जी को पुनः चुनने के पहले विचार जरूर करें। निर्णय आपको करना है।

जयहिंद!
राकेश कपूर
महासचिव, पटना जिला सुधार समिति ।
पूर्व उपाध्यक्ष सह प्रवक्ता ,पटना महानगर जिला कांग्रेस कमिटी