गुरूवार, फ़रवरी 29, 2024
होमपॉलिटिक्सतेजस्वी ने नीतीश को कहा, शराबबंदी प्रवचन से पहले अधिकारी से बात...

तेजस्वी ने नीतीश को कहा, शराबबंदी प्रवचन से पहले अधिकारी से बात कर लेते

सीएम नीतीश कुमार ने कहा है कि शराबबंदी सिर्फ बिहार में ही क्यूं, इसे पूरे देश में लागू किया जाना चाहिए। बिहार के मुख्यमंत्री का मानना है कि शराबबंदी जैसे महान निर्णय बिहार के बाद पूरे हिन्दुस्तान में लागू होनी चाहिए। दूसरी तरफ, प्रदेश के डीजीपी ने शराबबंदी पर सवाल उठाते हुए कहा कि थाने की जानकारी के बिना जब एक पत्ता नहीं हिल सकता, तो कोई माई का लाल एक बोतल दारू भी नहीं बेच सकता। ऐसा कहकर डीजीपी ने शराबबंदी की हकीकत बता दी। डीजीपी के इस बयान पर राजद नेता व नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने तंज कसते हुए कहा है, नीतीश कुमार शराबबंदी पर भाषण देने से पहले अपने डीजीपी से भी बात कर लें।

सीएम नीतीश ने कहा, मध निषेध कानून पूरे देश में हो लागू

आरजेडी नेता ने लिखा कि नीतीश कुमार गर्व के साथ शराबबंदी की हर जगह चर्चा करते हैं, लेकिन मध निषेध के फैसले को अपनी उपलब्धि बताने से पहले उन्हें अपने पुलिस के मुखिया की बात पहले सुन लेनी चाहिए थी। जिन्होंने खुले तौर पर यह मान लिया है कि बिहार में शराबबंदी पूरी तरह से फेल है। तेजस्वी ने कहा कि डीजीपी ही मानते हैं कि बिहार में शराबबंदी के बाद शराब के व्यवसाय को बिना किसी रोकटोक के चलाने के काम में पुलिस, प्रशासन और तस्कर एक-दूसरे के पूरक बन चुके हैं. जिसकी वजह से यह धंधा काफी बढ़िया तरीके से फल-फूल रहा है।

विदित हो कि नीतीश कुमार ने कुछ दिनों पहले देश की राजधानी दिल्ली में कहा था कि बिहार मद्य-निषेध अभियान पूरे देश के लिए रोल मॉडल है। शराबबंदी का राजस्व पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है। मुख्यमंत्री का कहना था कि पूरे देश में शराबबंदी लागू होना चाहिए। यह सामाजिक, धार्मिक एवं वैज्ञानिक दृष्टिकोण बेहद ज़रुरी है।

बिहार के पूर्व सीएम मांझी व रालोसपा के मुखिया उपेंद्र कुशवाहा भी लगा चुके हैं, आरोप

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव से पहले बिहार मध निषेध कानून को लेकर उपेंद्र कुशवाहा और जीतन राम मांझी ने राज्य सरकार पर खूब हमला बोला था। उपेंद्र कुशवाहा ने तो बतौर प्रश्न यह कहा था, कैसी शराबबंदी? अब तो लोगों के घर पर शराब की डिलेवरी हो रही है। वहीं जीतनराम मांझी ने तो सीएम नीतीश कुमार को खुली चुनौती देते हुए कहा कि जिन्हें लगता है बिहार में मध निषेध है, वे मंत्रियों और अधिकारियों के यहां छापेमारी करें। यदि मंत्री और अधिकारियों के घर शराब नहीं मिली तो मैं राजनीति छोड़ दूंगा।

पन्द्रह साल पचपन घोटाले, जानें क्या है, पोस्टर वार की नयी कहानी

Badhta Bihar News
Badhta Bihar News
बिहार की सभी ताज़ा ख़बरों के लिए पढ़िए बढ़ता बिहार, बिहार के जिलों से जुड़ी तमाम अपडेट्स के साथ हम आपके पास लाते है सबसे पहले, सबसे सटीक खबर, पढ़िए बिहार से जुडी तमाम खबरें अपने भरोसेमंद डिजिटल प्लेटफार्म बढ़ता बिहार पर।
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular