बिहार के शहीदों को मुख्यमंत्री ने दी श्रद्धांजलि, बिहार के शहीद हुए 5 लाल

0
834
bihar breaking news

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पटना एयरपोर्ट पर सभी शहीदों को श्रद्धांजलि दी है। भारत-चीन हिंसक झड़प में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजली दी है। पटना एयरपोर्ट पर शहीद हुए जवानों का पार्थिव शरीर पटना पहुंचा था। इस दौरान बिहार के कई बड़े नेता मौजूद रहे। इसके अलावा बिहार सरकार के तमाम बड़े अधिकारी भी मौजूद रहे। पटना में पहुंचे शहीद जवानों में सिपाही चंदन, सिपाही कुंदन, सिपाही अमन और सिपाही जय किशोर का पार्थिव शरीर लाया गया था।

भारत और चीन के बीच नियंत्रण रेखा पर झड़प हुई थी। जिसमें 20 भारतीय जवान शहीद हुए हैं। एएनआई के सूत्रों का कहना है कि गलवान घाटी में मारे लोगों में चीनी यूनिट के कमांडिंग ऑफिसर भी है। चीन के साथ झड़प 15-16 जून की रात को हुई है।

बिहार के शहीदों के लिए दिखा जनता में आक्रोस

[inline_posts type=”related” box_title=”” align=”alignleft” textcolor=”#000000″ background=”#c4c4c4″][/inline_posts]

लद्दाख के गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ हिंसक झड़प में बिहटा के सुनील शहीद हो गए। गुरुवार को शहीद सुनील सिंह को अंतिम विदाई दी गई। उनके अंतिम विदाई में भारी जनसैलाब उमड़ पड़ा। उनका पार्थिव शरीर दानापुर छावनी से पैतृक गांव बिहटा के तारानगर ले जाया गया। फिर वहां से छपरा घाट के लिए शव यात्रा निकाली गई। शहीद सुनील के अंतिम दर्शन के लिए पूरा गांव ही उमड़ पड़ा।

भोजपुर के एक और सपूत ने देश के खातिर शहादत दे दी है। भारत चीन की सीमा पर लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ संघर्ष में चंदन कुमार शहीद हुए। शहीद चंदन कुमार भोजपुर के रहने वाले थे। शहीद चंदन का घर जगदीशपुर अनुमंडल के ज्ञानपुरा गांव निवासी हृदय के पुत्र हैं। उनकी शहादत की खबर पाते ही ग्रामीण वासी सन्न रह गए।

मात्र 23 साल के उम्र में जदाहा के सपूत ने अपने देश के लिए कुर्बानी दे दी। शहीद होने की सूचना जैसे ही पिता को मिली परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल हो गया। शहीद का शव गुरुवार की सुबह जंदाहा पहुंचा। वहीं उनका अंतिम संस्कार हुआ।