अन्य राज्यों से आयें 1.70 लाख लोगों को फिर गुजरना होगा कोरोना स्क्रीनिंग प्रक्रिया से

0
1494
bihar breaking news

कोरोना वायरस के घातक प्रकोप को देखते हुये जब प्रधानमंत्री ने देशभर में लॉकडाउन की घोषणा के साथ ही सभी लोग अपनें-प्रदेश लौटने लगें। बिहार में भी लॉकडाउन के दौरान बड़ी संख्या में. दूसरे राज्यों में रहने वाले लोग अपने प्रदेश में अपनों के पास लौट आये हैं। सरकार अब अन्य राज्यों से लौटे लोगों को  कोरोना स्क्रीनिंग प्रक्रिया करा रही है।

बिहार में अन्य राज्यों से लौटे लोगें की संख्या 1 लाख 70 हजार के आस-पास बताई जा रही है। बिहार के स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने शनिवार को बताया कि चरणवार होने वाली इस स्क्रीनिंग में पहले चरण में उन लोगों की स्क्रीनिंग कराई जाएगी, जिन्हें राज्य के सरकारी भवनों में बने क्वरांटाइन सेंटर में रखा गया है। ऐसे लोगों की संख्या करीब 27 हजार बताई जा रही है।

विदित हो कि स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने कहा कि 18 मार्च के बाद बिहार लौटने वाले सभी लोगों की जांच कराई जाएगी। चरणवार होने वाले इस स्क्रीनिंग में मुंबई से विशेष ट्रेन से लौटनेवाले लोगों की जांच कराई जाएगी साथ ही केरल, तमिलनाडु और दिल्ली से लौटे लोगों की भी जांच होगी। उन्होंने बताया कि गांव में फिलहाल 27 हजार लोगों को सरकारी भवनों में क्वारंटाइन में रखा गया है।

राज्य में लौटने की प्राथमिकता के आधार पर होगी स्क्रीनिंग

दरअसल, राज्य सरकार यह स्टेप यानि कोरोना  स्क्रीनिंग प्रक्रिया इसलिए ले रही है कि कोरोना के बढ़ते संकट को कुछ कम किया जा सके। ऐसे सरकार का एसा मानना गलत भी नहीं है कि अन्य राज्यों से लौटकर बिहार में आनेवाले लोगों के ग्रुप में शामिल वैसे लोगों की पहचान की जाए जिनमें संदिग्ध रूप से कोरोना के लक्षण दिख रहे हैं। इसके बाद उनकी पहचान कर आवश्यकतानुसार टेस्ट कराया जाए।

खबरों की मानें तो स्वास्थ्य विभाग छह दिनों में छह चरण में स्क्रीनिंग करने की योजना बनाई है। सरकार का मानना है कि सभी लोगों को स्क्रीनिंग आसान नहीं है। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को आदेश दिया था कि जो लोग बिहार के बाहर से पहुंचे हैं, उनकी कोरोना जांच प्राथिमकता के आधार पर की जाए। इसके बाद राज्य के मुख्य सचिव दीपक कुमार ने सभी जिलाधिकारियों को बाहर से लौटे कोरोना के लक्षण पाए जाने वाले लोगों की स्क्रीनिंग करवाने के निर्देश दिए हैं।

गौरतलब है कि देश में कोरोना वायरस के संदिग्ध मरीजों की संख्या में दिन-प्रतिदिन वृद्धि हो रही है। हालांकि, अन्य राज्यों की तुलना में बिहार के हालात अभी नियंत्रण में है। राज्य में हालात न बिगड़े इसके लिए राज्य सरकार द्वारा सभी तरह के एहतियात बरते जा रहे है। इसी कड़ी में राज्य सरकार ने अन्य राज्यों से बिहार लौटे वैसे लोगों की फिर से स्क्रीनिंग कराने का फैसला किया है।

बिहार पुलिस- मरकज के जमात से लौटने वाले जांच कराएं, वरना होगी बड़ी कार्रवाई