Crime in Munger: डकैती की योजना बनाते नक्सली सहित तीन अपराधी गिरफ्तार

0
Crime in Munger: डकैती की योजना बनाते नक्सली सहित तीन अपराधी गिरफ्तार
Crime in Munger: डकैती की योजना बनाते नक्सली सहित तीन अपराधी गिरफ्तार
  • माओवादी गतिविधियों के साथ आपराधिक वारदातों को भी अंजाम देता रहा गिरफ्तार पप्पू यादव
  • एक पिस्टल 2 कट्टा और गोलियां बरामद
  • बांका के बेलहर में कारोबारी के घर डकैती डालने की योजना से जमा थे अपराधी
  • संग्रामपुर थाना क्षेत्र में गिरफ्तार हुए तीनों अपराधी

मुंगेर। Crime in Munger: जिले की पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह के निर्देश पर की गई कार्रवाई के दौरान फरार नक्सली पप्पू यादव को गिरफ्तार किया गया। पप्पू यादव के साथ दो अपराधी भी गिरफ्तार हुए। पप्पू यादव की योजना बांका के बेलहर में एक व्यापारी के घर डकैती डालने की थी। डकैती डालने की योजना से जुटे अपराधियों को तत्काल गिरफ्तार कर एक बड़ी वारदात को टाल दिया गया। इस संबंध में जिले की पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह ने बताया कि संग्रामपुर नहर के पास कुछ अपराधियों के जमावड़े की सूचना मिली थी। सूचना मिलने के बाद तारापुर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी पंकज कुमार के नेतृत्व में छापामारी दल का गठन किया गया।

छापामारी में हथियार बनाने के कुछ उपकरण बरामद

टीम में एसडीपीओ तारापुर के अलावा संग्रामपुर, गंगटा और खडगपुर थानाध्यक्ष भी शामिल थे। संग्रामपुर नहर के पास अपराधियों के जमावड़े की सूचना मिलने के बाद छापामारी की गई। छापामारी के दौरान पप्पू यादव साकिन अमगढ़वा थाना बेलहर, चंदन कुमार भगत साकिन दरियापुर थाना गंगटा, श्याम सुंदर सिंह साकिर गढ़ी थाना बेलहर को गिरफ्तार किया गया। कुछ अपराधी भाग निकले। पप्पू यादव के पास से एक लोडेड देशी पिस्टल और 3 गोलियां, चंदन भगत के पास से एक देसी कट्टा एक गोली और श्याम सुंदर प्रसाद सिंह के पास से एक देसी कट्टा और दो गोलियां बरामद की गईं।

पुलिस ने एक बाइक भी जब्त किया। पुलिस को देखकर कुछ अपराधी दूसरी बाइक पर सवार होकर भाग निकले। पुलिस की पूछताछ में चंदन भगत द्वारा अवैध तरीके से हथियार बनाने की सूचना मिली। चंदन भगत के दरियापुर स्थित आवास पर अवैध तरीके से हथियार बनाने की जानकारी मिलने के बाद वहां भी छापामारी की गई। छापामारी में हथियार बनाने के कुछ उपकरण भी बरामद किए गए जिसे घर में तहखाना बनाकर हथियार बनाए जा रहे थे। संग्रामपुर थाना द्वारा गिरफ्तार तीनों अपराधियों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

गिरफ्तार पप्पू यादव है नक्सली, डकैती की घटनाओं में भी रहा है शामिल

गिरफ्तार पप्पू यादव नक्सली गतिविधियों में भी शामिल रहा है। पूर्व में जेल जाने के दौरान बहादुर कोड़ा से उसकी मित्रता हुई थी और उसके संपर्क में आने के बाद वह भी माओवादी संगठन में शामिल हो गया था। नक्सली घटनाओं में शामिल रहने के अलावा वह आपराधिक वारदातों में भी शामिल रहा था। मुंगेर पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह ने बताया कि गिरफ्तार पप्पू यादव पर जमुई के लक्ष्मीपुर थाना और मुंगेर जिला के खड़गपुर थाना में नक्सली वारदात को अंजाम देने की प्राथमिकी दर्ज थी। जमुई के लक्ष्मीपुर थाना में पिछले साल 15 नवंबर को इसके खिलाफ दर्ज की गई थी।

वहीं बीते 10 अगस्त को एसटीएफ के साथ हुई मुठभेड़ की घटना का भी यह प्राथमिकी नामजद अभियुक्त है। बांका के बेलहर में भी इसने कई आपराधिक वारदातों को अंजाम दिया था। इस साल बांका के बेलहर में सड़क डकैती की दो वारदातों को इसने अंजाम दिया और इस बार भी यह बेलहर में एक कारोबारी के यहां डकैती डालने की मंशा से अपने साथियों के साथ जुटा था लेकिन पुलिस द्वारा की गई कार्रवाई में इसकी योजना विफल हो गई।

गिरफ्तार अपराधी पप्पू यादव के खिलाफ दस से अधिक मामले दर्ज

गिरफ्तार अपराधी पप्पू यादव के खिलाफ दस से अधिक मामले दर्ज हैं। नक्सली घटनाओं के अलावा हत्या, लूट, डकैती के मामलों में यह फरार था। पूछताछ में माओवादी गतिविधियों में शामिल रहने की बात स्वीकार की और कहा कि 2016 में जब यह जेल गया था तब इसका संपर्क बहादुर कोड़ा एवं दूसरे नक्सलियों से हुआ था और जेल से बाहर आने के बाद जमुई-खड़गपुर एरिया में माओवादी वारदातों में शामिल रहा। बांका के बेलहर में अधिक लाल यादव की हत्या में इसने अपनी संलिप्तता स्वीकार की। बांका के बेलहर थाना क्षेत्र में इसने मुर्गा लदी दो गाड़ियों को भी लूट लिया।

चंदन भगत रहा है हथियार सप्लायर, बैंक में चोरी की घटना में भी रहा शामिल

पुलिस द्वारा गिरफ्तार चंदन भगत का भी आपराधिक इतिहास रहा है। कई साल पहले इसने टेटियाबंबर इलाके में बैंक चोरी की वारदात को अंजाम दिया था। अपने घर पर ही यह मिनी गन फैक्ट्री का संचालन करता है।

घर के किचन में तहखाना बनाकर अवैध तरीके से हथियार बनाता है। गिरफ्तार चन्दन भगत मुंगेर-बांका के अपराधियों के अलावा माओवादी संगठन को भी समय-समय पर हथियार की आपूर्ति करता है तथा उनके हथियारों की मरम्मत भी कराता है। संग्रामपुर थाना क्षेत्र में की गई कार्रवाई के दौरान गिरफ्तार चंदन भगत से पूछताछ में इसके द्वारा अवैध हथियार फैक्ट्री संचालित होने की सूचना मिली।

छापामारी कर मिनीगन फैक्ट्री का उद्भेदन

पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह ने तत्काल गंगटा और खडगपुर थानाध्यक्षों को छापामारी का निर्देश दिया। गंगटा थाना के दरियापुर गांव में चंदन भगत के घर पर छापामारी कर मिनीगन फैक्ट्री का उद्भेदन किया गया। गंगटा थाना में इसके खिलाफ तीन मामले दर्ज हैं।

गिरफ्तार पप्पू यादव मुंगेर और बांका जिलों की पुलिस के लिए सिरदर्द बना हुआ था। मुंगेर से ज्यादा बांका पुलिस को इसकी तलाश थी। जमुई जिला में भी पुलिस इसकी तलाश कर रही थी। एसटीएफ ने भी कई बार इसकी गिरफ्तारी के लिए छापामारी की थी। बांका, जमुई और खड़गपुर क्षेत्र में माओवादी संगठन के लिए सूचना संकलन, हथियारों की व्यवस्था तथा लेवी वसूलने में इसकी बड़ी भूमिका रहती थी।

लोगों को डरा धमका कर लेवी वसूलना इसका मुख्य कार्य

टारगेट को चिन्हित कर उसको डरा धमका कर लेवी वसूलना इसका मुख्य कार्य था। इसके अलावा यह कॉन्ट्रैक्ट किलर का भी काम करता था। बालू के अवैध कारोबार में भी इसने पैर पसारा था। पप्पू यादव की गिरफ्तारी मुंगेर पुलिस के लिए एक बड़ी सफलता है तथा इसकी गिरफ्तारी से आपराधिक गतिविधियों और अवैध बालू खनन में कमी आएगी, साथ ही माओवादी संगठन को भी एक झटका लगा है।

रघुवंश प्रसाद सिंह ने पूरा जीवन बिहार के संघर्ष में बिताया

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here