बिहार में जनवरी के अंतिम सप्ताह में शुरू होगा कोरोना का टीकाकरण

0
972
बिहार में जनवरी के अंतिम सप्ताह में शुरू होगा कोरोना का टीकाकरण
बिहार में जनवरी के अंतिम सप्ताह में शुरू होगा कोरोना का टीकाकरण

आने वाला नया वर्ष 2021 बिहार के लिए उम्मीद की नई किरण लेकर आ रहा है। कोविड-19 से जूझ रहे लोगों के बीच कोरोना वैक्सीन का बेसब्री से इंतजार हैं ताकि इस खतरनाक वायरस के भय से मुक्ति मिल सके। देशभर में चल रहे कोरोना वैक्सीन के ट्रायल का अंतिम चरण अब समाप्ति की ओर है। पटना एम्स में भी तीसरे चरण का ट्रायल चल रहा है। उम्मीद लगायी जा रही है की बिहार में जनवरी के अंतिम सप्ताह में कोरोना का टीकाकरण शुरू हो जायेगा।

दो चरण में होगा कोरोना टीकाकरण

केंद्र सरकार से स्वीकृति मिलने के बाद बिहार में जनवरी के अंतिम सप्ताह तक कोरोना वैक्सीन की पहली खेप मिलने की उम्मीद है। पहले टीके के 28 दिन के अंतराल पर दूसरा टीका लगेगा। राज्य में हर व्यक्ति को कोरोना वैक्सीन दिए जाने की तैयारी शुरू हो चुकी है। पहले चरण में पांच लाख सरकारी एवं निजी अस्पतालों के कोरोना वॉरियर्स डॉक्टर व स्वास्थ्य कर्मियों को टीका दिए जाने की तैयारी है। इसके लिए राज्यस्तरीय कोल्ड स्टोरेज में छह लाख वैक्सीन रखने की व्यवस्था की गयी है। दो लाख फ्रंटलाइन कोरोना वॉरियर्स जिनमें आशा कार्यकर्ता, पुलिसकर्मी, आंगनबाड़ी सहायिका-सेविका व अन्य को टीका दिया जाएगा। दूसरे चरण में, राज्य में 60 वर्ष से अधिक उम्र के व्यक्तियों, व्यावसायिक प्रतिष्ठानों व शॉपिंग सेंटर के कर्मियों को कोरोना का टीका लगेगा। साथ ही आमलोगों को टीका दिए जाने के लिए युद्धस्तर पर तैयारी की जा रही है।

वॉकिंग फ्रीज, कूलर व डीप फ्रीजर की हो रही व्यवस्था

राज्य में जिला से लेकर पंचायत स्तर तक टीकाकरण को लेकर वॉकिंग फ्रीज, कूलर व डीप फ्रीजर की व्यवस्था की जा रही है, ताकि कोरोना वैक्सीन को 2 से 8 डिग्री सेल्सियस तापमान पर सुरक्षित रखा जा सके। कोरोना वैक्सीन को लेकर टॉस्क फोर्स का गठन, प्रशिक्षण व अन्य तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है। नये वर्ष में बिहार कोरोना वायरस से पूरी तरह से सुरक्षित होगा, रोजी-रोजगार के अवसर बढ़ेंगे, जीवन की गति सामान्य होगी, स्कूल-कॉलेज खुलेंगे, व्यावसायिक गतिविधियां व विकास के कार्यों को गति मिलेगी, इसकी उम्मीदें हैं।

ये भी पढ़े: बिहार का सबसे बड़ा कोरोना वैक्सीन सेंटर तैयार, स्टोर किए जा सकते हैं 35 लाख डोज