जाति आवासीय बनाने के लिए प्रखंड कार्यालय पर उमड़ी भीड़

0
577
bihar breaking news

प्रखंड परिसर में जमकर उडी सोशल डिसटेंगिग्स की धज्जियां
फतुहा। कोरोना काल में बगैर सोशल डिस्टेंटिंग्स और बिना मास्क और सेनेटाइजर के प्रखंड अंतर्गत थाना क्षेत्र स्थित प्रखंड कार्यालय परिसर में सोमवार को आरटीपीएस काउंटर पर ग्रामीण महिलाओं के साथ-साथ पुरुषो व युवको की काफी भीड़ उमड़ पड़ी। यह भीड़ जाति, आवासीय प्रमाण पत्र व राशन कार्ड बनाने के लिए उमड़ी।

भीड़ में न तो सोशल डिस्टेंस थी और न ही किसी के पास मास्क

भीड़ में न तो सोशल डिस्टेंस थी और न ही किसी के पास मास्क। सभी लोग अपनी आवेदन को काउंटर पर जमा करने के लिए आपाधापी किए थे। कोरोना संकट काल के दौरान प्रखंड कार्यालय में इस तरह की भीड़ पहली बार दिखाई दी। इस दौरान मास्क चेकिंग के लिए न तो कोई अधिकारी दिखाई दिए और न ही सोशल डिस्टेंस अपनाने की कोई वयवस्था की गई थी।

प्रत्येक अभियर्थी से दो सौ और पांच सौ रुपये लिये गये

इसी बीच स्थानीय लोगों ने बताया कि अनुमंडल प्रशासन को छोड़ दिया जाये तो प्रखंड में तैनात अपनी-अपनी ड्यूटी बजानेवाले किसी भी पुलिसकर्मी अथवा प्रखंड विकास पदाधिकारी को इसका ध्यान नहीं रहा। इसी बीच प्रखंड परिसर में प्रखंड के एक कर्मी ने अपना नाम नहीं प्रकाशित होने के शर्त पर बताया कि प्रत्येक अभियर्थी से दो सौ और पांच सौ रुपये लिये गये हैं तो इस हाल में किस तौर पर कोरोना और सोशल डिसटेंगिग्स की बात आप करेंगे। वहीं उक्त सज्जन ने बताया कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सुशासनी राज में जमकर हर काम पैसे पर हो रहा है। पत्रकार साहब! ‘रुपलाल में बहुत पावर है।’