दरभंगा एम्स को केंद्र से मिली हरी झंडी, चुनाव से पहले बिहार को एक और सौगात

0
683
bihar breaking news

पटना। बिहार में विधानसभा चुनाव से पहले सूबे में लगातार योजनाओं का शिलान्यास और उद्घाटन जारी है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार लगातार नई-नई योजनाओं का शिलान्यास और उद्घाटन कर रहे हैं। राज्य से लेकर केंद्र सरकार सभी योजनाओं को धरातल पर पहुंचाने के लिए हर सम्भव प्रयास में जुटी है। अब केंद्र की ओर से दरभंगा एम्स निर्माण के लिए जहां वित्त मंत्रालय के व्यय समिति ने हरी झंडी दे दी वहीं उत्तरी बिहार वासियों को सुपर स्पेशलिटी अस्पताल का भी जल्द तोहफा मिलने वाला है। स्वास्थ्य मंत्रालय के प्राइमरी प्रोजेक्ट रिपोर्ट के तहत दरभंगा एम्स में 750 बेड की व्‍यवस्‍था होगी। सरकार ने इसके निर्माण में 1361 करोड़ रुपये खर्च करने की सहमति दी

750 बेड का होगा दरभंगा एम्स

केंद्रीय वित्त सचिव की अध्यक्षता में हुई व्यय वित्त समिति की बैठक में स्वास्थ्य मंत्रालय के प्राइमरी प्रोजेक्ट रिपोर्ट पर स्वास्थ्य मंत्रालय ने मुहर लगाते हुए अनुमानित राशि की स्वीकृति प्रदान कर दी। प्राइमरी प्रोजेक्ट रिपोर्ट के अनुसार एम्स 750 बेड का होगा और निर्माण कार्य पर 1361 करोड़ रुपए की राशि खर्च होगी। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने दरभंगा के सांसद गोपाल जी ठाकुर के आग्रह पर एम्स एवं सुपर स्पेशलिटी के निर्माण कार्य की समीक्षा की।

दरभंगा सांसद ने मौजूदा स्थिति से अवगत कराया और केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री चौबे ने बताया कि दरभंगा एम्स को लेकर वित्त मंत्रालय के व्यय वित्त समिति बैठक हाल ही में संपन्न हुई है। अब हरी झंडी मिलने के बाद कार्य और तेज गति से बढ़ेगा। विभागीय स्तर पर एवं अन्य मंत्रालयों से संबंधित कार्यों को तेजी से मूर्त रूप दिया जा रहा है। बिहार का दूसरा एम्स दरभंगा में खुलने से उत्तर बिहार की जनता को इसका काफी लाभ मिलेगा।

कोविड-19 के कारण हुआ विलंब 

सांसद गोपाल जी ठाकुर ने दरभंगा में सुपर स्पेशलिटी अस्पताल के निर्माण कार्य की मौजूदा स्थिति से भी केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री को अवगत कराया। उन्होंने मुजफ्फरपुर और दरभंगा के सुपर स्पेशलिटी अस्पताल के निर्माण कार्यों की समीक्षा की और निर्माण एजेंसी को निर्देशित किया कि यथाशीघ्र ओपीडी की व्यवस्था वहां शुरू हो सके। उन्होंने माना कि कोविड-19 की वजह से कार्य में विलंब हुआ लेकिन अब और ज्यादा वक्त नहीं लगेगा।

केंद्रीय राज्यमंत्री चौबे ने निर्माण कार्य में स्थानीय श्रमिकों को प्राथमिकता देने का निर्देश दिया। जाहिर है पिछले 3 साल से लगातार दरभंगा एम्स को लेकर संशय बरकरार था। पहले जमीन अधिग्रहण करने में समस्या आयी और जब सरकार से अनुमति मिली थी तो कोविड की वजह से निर्माण कार्य में बाधा उत्पन्न हुआ। अब केंद्र सरकार से राशि की स्वीकृति मिलने के बाद लक्ष्य है कि अगले कुछ दिनों में ही निर्माण कार्य शुरू हो सके।

सीएम कैंडिडेट पुष्पम प्रिया चौधरी का नीतीश के गढ़ में