मंगलवार, फ़रवरी 27, 2024
होमबिहारपटनाराजद के अस्तित्व के बाद पालीगंज सीट पर चमकी 'लालटेन',खिला 'कमल','हाथ' रहा...

राजद के अस्तित्व के बाद पालीगंज सीट पर चमकी ‘लालटेन’,खिला ‘कमल’,’हाथ’ रहा खाली

पालीगंज। एक दशक पहले तक नक्सलियों का गढ़ रहे पालीगंज में बिहार विधानसभा चुनाव का ऐलान होते ही चुनावी बयार बहने लगी। अनुमंडल मुख्यालय सहित दुल्हीनबाजार प्रखंड क्षेत्र को अपने में समेटे पालीगंज विधानसभा सीट इस बार हॉट सीट में तब्दील हो गई। पिछले चुनाव में इस सीट पर राजद के उम्मीदवार जयवर्द्धन यादव उर्फ बच्चा बाबू ने भाजपा के उम्मीदवार रामजन्म शर्मा को हराकर जीती थी। लेकिन 2020 में इस विधानसभा की फिजा बदली-बदली सी नजर आ रही है। ऐसा इसलिए है क्योंकि कुछ दिन पूर्व राजद विधायक जयवर्द्धन यादव, जदयू में शामिल हो गए। ऐसे में इस सीट के लिए एनडीए में तकरार होना लाजमी है। आंकड़ों पर नजर डालें तो 1996 व 2010 में इस सीट पर भाजपा ने कब्जा जमाया था वहीं 2000 व 2015 में यह सीट राजद के खाते में गई।

यहां से पहले कांग्रेस के विधायक बने थे राम लखन सिंह यादव

पालीगंज विधानसभा का गठन 1952 में हुआ था। यहां के पहले विधायक कांग्रेस के राम लखन सिंह यादव चुने गए थे। बिहार विधानसभा चुनाव 2020 पालीगंज सीट के लिए इसबार जदयू व भाजपा के बीच द्वंद की स्थिति बनी है। भाजपा इस सीट पर अपना एकाधिकार मानते हुए सीट को छोड़ना नहीं चाहती, वहीं राजद से जदयू में गए जयवर्द्धन यादव पर पार्टी वर्तमान विधायक होने का हवाला देते हुए मजबूत दावेदारी पेश कर रही है।

दोनों गठबंधन के लिए हॉट सीट बन गई पालीगंज

पालीगंज विधानसभा क्षेत्र में राजद के महारथियों की दौड़ शुरू हो गई। यही नहीं, इस सीट के लिए कुशवाहा प्रत्याशी भी दिन-रात एक किये हुये हैं। ऐसे में निश्चित तौर पर पालीगंज विधानसभा सीट दोनों गठबंधन के लिए हॉट सीट बन गई है। बतादें कि 1952 से लेकर 2015 तक कुल 18 विधानसभा चुनाव उपचुनाव में 7 बार यादव और 7 बार कुशवाहा जबकि चार बार भूमिहार जाति के उम्मीदवारों ने कब्जा जमाया। वहीं पालीगंज विधानसभा की बाबत एक बात और भी प्रचलित है कि पूर्व के तीन लोगों को छोड़ दें तो हाल के दिनों में कोई भी दोबारा नहीं जीत पाए। वहीं निर्दलीय भी एक ही बार जीत पाए ।

कब कौन जीता

1952- राम लखन सिंह यादव, कांग्रेस।,1957-प्रसाद वर्मा, सोशलिस्ट पार्टी।,1962-राम लखन सिंह यादव,कांग्रेस।, 1967- चंद्रदेव प्रसाद वर्मा, सोशलिस्ट पार्टी।,1969-चंद्र प्रसाद वर्मा, सोशलिस्ट पार्टी।,1972-कन्हाई सीन संगठन, कांग्रेस।, 1977- कन्हाई सीन निर्दलीय।,1980-राम लखन सिंह यादव, कांग्रेस।, 1985-राम लखन सिंह यादव, कांग्रेस। 1990- राम लखन सिंह यादव, कांग्रेस।, 1991-चंदू प्रसाद वर्मा,जनता दल।, 1995-चंद्रदेव प्रसाद वर्मा,जनता दल।, 1996- जनार्दन शर्मा, भाजपा।, 2000-वीराना सिंह यादव, राजद।, 2005-नंद कुमार नंदा, भाकपा माले।, 2010- डॉ उषा विद्यार्थी, भाजपा।, 2015- जयवर्धन यादव राजद।

पालीगंज में 2 लाख से ज्यादा वोटर डालेंगे वोट

पालीगंज विधानसभा में 2020 में 2 लाख 79 हजार 397 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। इसमें पुरुष मतदाताओं की संख्या 1 लाख 44 हजार 536 है तो महिला मतदाताओं की संख्या 1 लाख 34 हजार 855, जबकि थर्ड जेंडर मतदाता की संख्या 6 है। पालीगंज विधानसभा में 407 बूथ हैं।

पटना के बेऊर कारा में छापेमारी से कैदियों में मचा…
Badhta Bihar News
Badhta Bihar News
बिहार की सभी ताज़ा ख़बरों के लिए पढ़िए बढ़ता बिहार, बिहार के जिलों से जुड़ी तमाम अपडेट्स के साथ हम आपके पास लाते है सबसे पहले, सबसे सटीक खबर, पढ़िए बिहार से जुडी तमाम खबरें अपने भरोसेमंद डिजिटल प्लेटफार्म बढ़ता बिहार पर।
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular