गुरूवार, फ़रवरी 29, 2024
होमशिक्षा और नौकरीविकास प्रबंधन संस्थान बिहटा की नयी झलक

विकास प्रबंधन संस्थान बिहटा की नयी झलक

विकास प्रबंधन संस्थान (डीएमआई) कैंपस को विकसित करने की प्रक्रिया अंतिम चरण में है। बिहटा में बनने वाले इस संस्थान को आईटी सिटी और एनआईटी के बीच की जमीन निर्धारित की गयी है। कैंपस विकसित करने के लिए भवन निर्माण के टेंडर की प्रक्रिया अब अंतिम चरण में है। कैंपस के प्रस्तावित नक़्शे के अनुसार इसे चार ब्लॉक में बांटा गया है। इन चार ब्लॉक में ऐकडेमिक ब्लॉक, कॉम्पिटेंसी इन्हांसमेंट प्रोग्राम(सीईपी) ब्लॉक, फैकल्टी एंड स्टाफ क्वार्टर और स्टूडेंट ब्लॉक शामिल है।

विकास प्रबंधन संस्थान विकास कार्य 2020 तक पूरा करने का लक्ष्य

बिहटा के सिकंदरपुर में बनने वाला विकास प्रबंधन संस्थान एनआईटी के बगल में स्थित है। कैंपस विकसित करने के लिए भवन निर्माण विभाग को जिम्मा सौपा गया है। यहाँ बनने वाले कुछ भवन जी प्लस फोर तोह कुछ जी प्लस फाइव होंगे। कुछ क्षेत्रो को कॉमन भी रखा गया है। इस नए कैंपस का काम 2020 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है।

जानते है बनने वाले चार ब्लॉक के बारे में
ऐकडेमिक ब्लॉक

बनने वाले चारो ब्लॉक में प्रमुख होगा ऐकडेमिक ब्लॉक। इस ब्लॉक में क्लास रूम, इंटरैक्टिव लर्निंग थिएटर, फैकल्टी के लिए ऑफिस, विद्यार्थियों के लिए लाउंज, कैफेटेरिया इत्यादि का निर्माण किया जायेगा। निदेशक कार्यालय, परीक्षा शाखा कार्यालय, नामांकन कार्यालय इत्यादि भी ऐकडेमिक ब्लॉक के प्रमुख हिस्सा होंगे।

स्टाफ क्वार्टर ब्लॉक

कैंपस में स्टाफ के लिए कुल 36 क्वार्टर बनाये जायेंगे। जिनमे एक निदेशक, छह डीन, 13 एसोसिएट प्रोफेसर और 16 असिस्टेंट प्रोफेसर के क्वार्टर भी होंगे। बाकी क्वार्टर अन्य स्टाफ के लिए निर्मित किया जायेगा। स्टाफ क्वार्टर में कॉमन फैसिलिटी सेण्टर का निर्माण किया जायेगा।

स्टूडेंट ब्लॉक

विद्यार्थियों के लिए बनने वाले इस ब्लॉक में 400 विद्यार्थियों के रहने की व्यवस्था होगी। छात्रों के लिए कॉमन डिस्कशन रूम, मनोरंजन केंद्र, इंडोर गेम्स और कैफेटेरिया की व्यवस्था होगी।

कॉम्पिटेंसी इन्हांसमेंट प्रोग्राम(सीईपी) ब्लॉक

योग्यता संवर्धन प्रोग्राम सेण्टर में आनेवालों के लिए हॉस्टल, सुइट्स, इंटरैक्टिव लर्निंग क्लासरूम आईटी हब, डाइनिंग हॉल, कॉमन रूम की सुविधा केंद्र का निर्माण किया जायेगा।

700 लोगों के क्षमता वाला ऑडोटोरियम

विकास प्रबंधन संस्थान के कैंपस में मिनी ऑडोटोरियम के अलावा एक बड़े ऑडोटोरियम का निर्माण किया जायेगा। इस ऑडोटोरियम की क्षमता लगभग 700 लोगो के बैठने की होगी। इसके अलावा एक ओपन थिएटर का भी निर्माण किया जायेगा। पुरे कैंपस में वाईफाई की सुविधा उपलब्ध रहेगी।

संस्थान का पाठ्यक्रम संरचना

डीएमआई विकास प्रबंधन (पीडीएम) में दो साल का पूर्णकालिक स्नातकोत्तर कार्यक्रम प्रदान करता है। यह उन् लोगों के लिए है जो व्यक्तिगत विकास और सामाजिक परिवर्तन में योगदान देने वाले विकास प्रबंधन पेशेवर के रूप में एक पूर्ण कैरियर के लिए इच्छुक हैं। दो वर्ष के पाठ्यक्रम में संस्थान में कुल पांच टर्म होंगे। पहले वर्ष में तीन और दूसरे वर्ष में दो टर्म की सुविधा है।

संस्थान के पाठ्यक्रम की अधिक जानकारी के लिए यहाँ देखे: DMI Programme

ये भी पढ़े:  नए साल में और खूबसूरत होगा राजधानी पटना

Badhta Bihar News
Badhta Bihar News
बिहार की सभी ताज़ा ख़बरों के लिए पढ़िए बढ़ता बिहार, बिहार के जिलों से जुड़ी तमाम अपडेट्स के साथ हम आपके पास लाते है सबसे पहले, सबसे सटीक खबर, पढ़िए बिहार से जुडी तमाम खबरें अपने भरोसेमंद डिजिटल प्लेटफार्म बढ़ता बिहार पर।
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular