गुरूवार, फ़रवरी 22, 2024
No menu items!
होमBihar Corona Newsबिहार में कोरोना के अब तक की कहानी, एक मौत तीन संक्रमण,...

बिहार में कोरोना के अब तक की कहानी, एक मौत तीन संक्रमण, राहत पैकेज का एलान

कोरोना संक्रमण से बिहार के लोगों को बचाने के लिए बिहार में तत्काल प्रभाव से 31 मार्च तक लॉकडाउन कर दिया गया है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक के बाद रविवार देर शाम पूरे बिहार में लॉकडाउन का आदेश दिया। राजधानी पटना के साथ बिहार के सभी जिला, अनुमंडल और प्रखंड मुख्यालयों में यानी नगर निकाय क्षेत्र में लॉकडाउन लागू रहेगा।

रविवार को मुख्य सचिव दीपक कुमार ने बताया कि आरएमआरआइ निदेशक की रिपोर्ट के अनुसार एम्स में भर्ती दो लोगों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। अनीसाबाद की महिला का इलाज अभी चल रहा है। महिला के मोहल्ले के तीन किलोमीटर के परिक्षेत्र को सील किया जाएगा।

बिहार में कोरोना के केस

बिहार में कोरोना वायरस की वजह से किडनी रोग से ग्रसित गंभीर स्थिति वाले 38 वर्षीय व्यक्ति की मौत हो गई। जबकि एक और महिला और एक युवक कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। बिहार में एक ही दिन तीन लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि के बाद इस महामारी को लेकर सतर्कता बढ़ गई है। कतर से लौटे मुंगेर के 38 वर्षीय युवक की शनिवार की रात मौत हुई और रविवार को उसकी कोरोना जांच रिपोर्ट आई, तो संक्रमण की पुष्टि हुई।

पटना के अनीसाबाद मोहल्ले की एक महिला और फुलवारीशरीफ प्रखंड के एक गांव के 19 साल का युवक कोरोना संक्रमित हैं। युवक 19 मार्च को स्कॉटलैड से पटना लौटा था। एम्स से भागने के बाद उसे प्रशासन ने एनएमसीएच के आइडीएच में भर्ती किया था। कोरोना की पुष्टि होते ही शव ले गए परिजनों की खोज-खबर ली गई। मुंगेर जिला प्रशासन को सूचना दी गई। एम्स के उस वार्ड को भी सैनिटाइज किया गया। मुंगेर, भागलपुर और पटना के निजी अस्पतालों में इलाज के बाद युवक को शुक्रवार को एम्स पटना के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया था। सभी स्थानों को सैनिटाइज किया जा रहा।

मुंगेर जिला प्रशासन के निर्देश पर आठ सदस्यीय मेडिकल टीम की देखरेख में मुंगेर के कोरोना संक्रमित युवक को सिपुर्द-ए-खाक किया गया। मुंगेर के जिलाधिकारी राजेश मीणा ने बताया कि गांव में जिला प्रशासन की टीम को भेजा गया है। गांव के लोग घबराएं नहीं और अपने घरों में ही रहें।

एनएमसीएच में भी कोरोना आशंकित की मौत

रविवार की सुबह राजधानी के नालंदा मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्टिपल (एनएमसीएच) की इमरजेंसी में औरंगाबाद से इलाज के लिए आए कोरोना आशंकित दंपती को भर्ती किया गया जिसमें पति ने दम तोड़ दिया। दोनों के सैंपल जांच को राजेंद्र मेमोरियल रिसर्च इंस्टीट्यूट (आरएमआरआइ) भेजा गया है।

बिहार लॉकडाउन: क्या हैं मायने, क्या होगा बंद, क्या रहेगा खुला

राहत पैकेज का एलान

कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण लॉकडाउन को ध्यान में रख राहत पैकेज के तहत बीपीएल श्रेणी के लोगों को मुफ्त अनाज किस तरह से उपलब्ध करायी जाए इस पर सरकार सोमवार को निर्णय लेगी। राहत पैकेज के सिलसिले में उच्च स्तर पर एक बैठक भी हुई है। अनाज की उपलब्धता तो है, पर समूह में इसके वितरण के लिए लोगों को नहीं बुलाया जा सकता।

आधिकारिक तौर पर मिली जानकारी के अनुसार सरकार ने खाद्य आपूíत विभाग से बीपीएल के सभी कार्डधारी लोगों की सूची पर चर्चा की है। उन्हें एक माह का राशन दिया जा सकता है। संभव है कि सरकार बीपीएल के लोगों को उनके घर तक राशन पहुंचाने की व्यवस्था करे। राहत राशि भी बैंकों में भेजा तो जरूर जाएगा, पर अचानक बैंकों में भीड़ न बढ़े इसे लेकर भी एहतियात रखा जाना है।

Badhta Bihar News
Badhta Bihar News
बिहार की सभी ताज़ा ख़बरों के लिए पढ़िए बढ़ता बिहार, बिहार के जिलों से जुड़ी तमाम अपडेट्स के साथ हम आपके पास लाते है सबसे पहले, सबसे सटीक खबर, पढ़िए बिहार से जुडी तमाम खबरें अपने भरोसेमंद डिजिटल प्लेटफार्म बढ़ता बिहार पर।
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular