गुरूवार, फ़रवरी 22, 2024
No menu items!
होमBihar Corona Newsबिहार लॉकडाउन: क्या हैं मायने, क्या होगा बंद, क्या रहेगा खुला, हर...

बिहार लॉकडाउन: क्या हैं मायने, क्या होगा बंद, क्या रहेगा खुला, हर सवाल के जवाब

देश में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप की वजह से कई राज्यों में लॉकडाउन की नौबत आ गई है। राजस्थान, उत्तराखंड और पंजाब, बिहार को 31 मार्च तक लॉकडाउन हो गए हैं। कई शहरों समेत देश के 75 जिले इस समय लॉकडाउन हो चुके हैं। अब तक आपने हड़ताल के बारे में सुना है, कर्फ्यू के बारे में सुना है। मगर मन में यह सवाल उठता है कि आखिर यह लॉकडाउन क्या है? हमारे जीवन पर इसका क्या प्रभाव पड़ेगा? क्या खुला रहेगा और क्या बंद रहेगा?

कोरोना वायरस से पूरी मानव जाति संकट में है। हम सब इस महामारी का डट कर मुकाबला कर रहे हैं। आवश्यक सावधनियां भी बरती जा रही हैं किंतु इस बीमारी की गंभीरता को देखते हुये प्रत्येक व्यक्ति का सचेत रहना नितांत आवश्यक है। इसका सबसे अच्छा उपाय सोशल डिस्टेंसिंग है।

31 मार्च 2020 तक के लिये सभी जिला मुख्यालय लॉकडाउन

कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण से आमलोगों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुये राज्य सरकार द्वारा तत्काल प्रभाव से फिलहाल 31 मार्च 2020 तक के लिये सभी जिला मुख्यालयों, सभी अनुमंडल मुख्यालयों, सभी प्रखंड मुख्यालयों एवं सभी नगर निकायों के स्वबाकवूद का निर्णय लिया गया है। निजी प्रतिष्ठानों, निजी कार्यालयों एवं सार्वजनिक परिवहन को पूर्णतः बंद किया गया है, परंतु आवश्यक एवं अनिवार्य सेवाओं से संबंधित प्रतिष्ठानों यथा चिकित्सा सेवाओं, खाद्यान्न एवं किराने के प्रतिष्ठान, दवा की दुकानों, डेयरी एवं डेयरी से संबंधित प्रतिष्ठान, पेट्रोल पंप एवं सी0एन0जी0 स्टेशन, बैंकिंग एवं ए0टी0एम0, पोस्ट आफिस तथा प्रिंट एवं इलेक्ट्राॅनिक मीडिया आदि सेवाओं एवं इन सेवाओं के लिये उपयोग किये जा रहे वाहनों को इस आदेश की परिधि से बाहर रखा गया है।

मुख्यमंत्री का अपील

बिहार के तमाम लोगों से अपील है कि कोरोना संक्रमण के खिलाफ राज्य सरकार द्वारा चलायी जा रही इस मुहिम में अपना पूरा सहयोग दें। जब भी संकट का समय आया है तो हमने सभी लोगों के सहयोग से उस पर विजय पायी है। संकट की इस घड़ी में सरकार सभी लोगों के साथ है। मुझे पूरा विश्वास है कि हम सब साथ मिलकर इस चुनौती का सफलतापूर्वक सामना करने में सक्षम होंगे। मैं सब लोगों से यही अपील करूॅगा कि आप सब लोग अपने घर के अंदर रहें, इधर-उधर अनावष्यक आने-जाने की जरूरत नहीं है। इन सब चीजों से संबंधित सारे मामलों की जानकारी दी जा रही है। समाचार पत्रों के माध्यम से भी जानकारी दी जा रही है। इन सब चीजों का ख्याल रखें और हम सब मिलकर इस परिस्थिति का मुकाबला कर सकते हैं और इसमें कामयाब होंगे।

आखिर क्या है लॉकडाउन

लॉकडाउन शब्द का इस्तेमाल पश्चिमी देश कई बार आपात स्थिति में ऐसा कर चुके हैं। भारत में लोगों को घरों में रखने के लिए कर्फ्यू या धारा 144 जैसे कानून का सहारा लेते रहे हैं। मगर लॉकडाउन का इस्तेमाल भारत में पहली बार हो रहा है। इसका सीधा सा मतलब है कि जरूरी सेवाओं को छोड़कर सब कुछ बंद रहेगा। इस दौरान सिर्फ जरूरी या आपात स्थिति होने पर ही आपको घर से निकलने की अनुमति रहेगी। इस दौरान सभी बाजार, व्यापारिक प्रतिष्ठान, दुकानें, पब्लिक ट्रांसपोर्ट सब बंद रहेंगे। हालांकि, जरूरी सेवाएं बहाल रहेंगी।

क्या पहले भी हुआ है लॉकडाउन

अमेरिका ने 9/11 आतंकी हमले के बाद तीन दिन के लिए पहली बार लॉकडाउन किया था। इसके बाद 2013 में बॉस्टन और 2015 में पेरिस हमले के बाद ब्रुसेल्स लॉकडाउन किया गया था।

क्या-क्या सेवाएं बंद रहेंगी

किसी भी सार्वजनिक परिवहन सेवा को अनुमति नहीं होगी। इसमें निजी बसें, टैक्सी, ऑटो रिक्शा, रिक्शा, ई-रिक्शा सब बंद रहेंगे।

क्या-क्या खुलेगा रहेगा

दूध, सब्जी और दवा की दुकानें लॉकडाउन के दौरान खुले रहेंगे। अस्पताल और क्लीनिक भी इस दौरान खुले रहेंगे।इसके अलावा राशन की दुकानें भी खुली रहेंगी। किसी बेहद जरूरी काम के लिए भी प्रशासन की ओर से छूट मिल सकती है।बैंकों के कैश से जुड़ी सुविधाएं जारी रहेंगी। टेलिकॉम, इंटरनेट और डाक सेवा जारी रहेंगी।

किन लोगों को छूट मिलेगी

पुलिस का काम जारी रहेगा। साथ ही कानून-व्यवस्था को लागू कराने वाले विभाग भी काम करेंगे।स्वास्थ्यकर्मियों और अग्निशमन विभाग के कर्मचारियों का काम भी जारी रहेगा। जेल विभाग और बिजली व पानी के दफ्तरों में भी काम जारी रहेगा।नगर निगम के साफ सफाई या कूड़ा उठाने जैसे काम भी चलते रहेंगे। इसके अलावा जेल विभाग के काम भी चलते रहेंगे। मीडियाकर्मियों को भी इस दौरान आने जाने की छूट होगी।

क्या पेट्रोल पंप भी खुले रहेंगे

सरकार ने पेट्रोल पंपों और एटीएम को आवश्यक श्रेणी में रखा है। इसलिए जरूरत के हिसाब से इन्हें खोला जा सकता है।

क्या निजी वाहन चला सकेंगे

अगर बहुत जरूरी हो तो लॉकडाउन में भी निजी वाहनों का प्रयोग किया जा सकता है। हालांकि बिना वजह बाहर घूमने पर सरकार कार्रवाई कर सकती है।आपात व्यवस्था में एंबुलेंस को भी बुला सकते हैं।

क्या शादी-विवाह के कार्यक्रम होंगे

बिहार लॉकडाउन: संक्रमण फैलने के डर से किसी भी कार्यक्रम के लिए लोगों के जुटने पर पाबंदी रहेगी। बहुत जरूरी होने पर आपको प्रशासन से अनुमति लेनी होगी। क्या निजी कर्मचारियों को काम पर जाना होगा।लॉकडाउन में सरकारी हो या निजी कंपनी सभी बंद रहेंगी। सिर्फ जरूरी विभाग के कार्यालय खुले रहेंगे।

Badhta Bihar News
Badhta Bihar News
बिहार की सभी ताज़ा ख़बरों के लिए पढ़िए बढ़ता बिहार, बिहार के जिलों से जुड़ी तमाम अपडेट्स के साथ हम आपके पास लाते है सबसे पहले, सबसे सटीक खबर, पढ़िए बिहार से जुडी तमाम खबरें अपने भरोसेमंद डिजिटल प्लेटफार्म बढ़ता बिहार पर।
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular