बिहार की बिटिया नैंसी कुमारी का कमाल, मिला ४० लाख का पैकेज

0
1622
bihar breaking news

बिहार आज किसी भी क्षेत्र में कम नहीं है, टैलेंट के मामले में वैसे ही बिहारियों ने सबको पीछे छोड़ रखा है। देश को सबसे ज्यादा आईएएस और आईपीएस देने वाला राज्य आज प्राइवेट नौकरी में भी अपने जलवे बिखेर रहा है। हाल ही में हुए नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के प्लेसमेंट ड्राइव में बिहार की बिटिया नैंसी कुमारी को एडोबी ने 40.6 लाख का पैकेज दिया है।

अबतक का सबसे बड़ा पैकेज

नैंसी नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी पटना में कंप्यूटर साइंस विभाग की सत्र 2015-2019 की छात्रा है। संस्थान के ट्रेनिंग तथा प्लेसमेंट सेल के इंचार्ज प्रो. सम्राट मुखर्जी ने बताया कि संस्थान में अबतक किसी भी छात्रा को यह सबसे बड़ा पैकेज है। इससे पहले पिछले वर्ष एडोबी कंपनी ने ही 39 लाख के पैकेज पर संस्थान की एक छात्रा मेधा कुमारी को जॉब ऑफर किया था।

कंपनी द्वारा छह छात्रों का ऑनलाइन टेस्ट लिया गया। इसमें सफल होने पर कोलकाता में तीन राउंड का टेक्निकल सेशन आयोजित किया गया। चौथे राउंड में एच आर सेशन भी हुआ जिसमे लगभग 3 घंटे का इंटरव्यू हुआ। अंतिम रूप से नैंसी को इस राउंड में सफलता मिली है। प्रो. मुखर्जी ने बताया कि नैंसी का चयन कंपनी के विशेष प्रोग्राम शी कोड्स के तहत किया गया है।

नैंसी कुमारी सीतामढ़ी की निवासी, बचपन से है मेधावी

Nancy Kumari NIT Patna

नैंसी कुमारी का जन्म 15 जुलाई 1997 सीतामढ़ी के पुपरी में एक मध्यमवर्गीय परिवार में हुआ। पिता एक साधारण व्यवसायी हैं। नैंसी की माता मंजू देवी वर्तमान में सीतामढ़ी जिला परिषद की सदस्या हैं। नैंसी के बड़े भाई अपने पिताजी के व्यवसाय में सहयोग करते हैं। वह अपने घर में नौकरी करने वाली पहली बेटी है।

नैंसी कुमारी ने 10 वीं की पढ़ाई सीतामढ़ी के पुपरी स्थित डीएवी स्कूल से पूरी की थी। 10 वीं उसे 9.6 सीजीपीए प्राप्त हुए थे। 12 वीं की पढाई मुजफ्फरपुर के दून सीनियर सेकंडरी स्कूल से पूरी की थी। 12 वीं में 82% मार्क्स प्राप्त की।

अमेज़ॅन, सैमसंग और सबर कॉर्पोरेशन में भी हुआ चयन

अमेज़ॅन एडोब के बाद दूसरा सबसे ज्यादा भुगतान करने वाली कंपनी है। उसने दो छात्रों को 20.5 लाख रुपये के पैकेज के साथ काम पर रखा है। ट्रैवल टेक्नोलॉजी कंपनी सबर कॉर्पोरेशन में पांच छात्रों का 14 लाख रुपये के पैकेज पर चयन हुआ है, जबकि 17 छात्रों को सैमसंग टेक्नोलॉजी के अनुसंधान और विकास विंग में 10.5 लाख रुपये के पैकेज के साथ रखा गया है।

Reference Soucre : The Telegraph