कोरोना संक्रमित कंटेनमेंट जोन में लॉकडाउन जारी, निर्देशों के अनुसार नियमों का पालन

0
614
bihar breaking news

बिहार में कोरोना संक्रमित कंटेनमेंट जोन में लॉकडाउन जारी रहेगा। संक्रमण के बढ़ते खतरे को देखते हुए ऐसा निर्णय लिया गया है। जनसंपर्क विभाग के सचिव अनुपम कुमार ने इस संदर्भ में जानकारी दी है। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के संबंध में बिहार में कोई नया निर्णय नहीं किया गया है। इसको लेकर कोई नया निर्देश भी नहीं दिया गया है। केन्द्र सरकार द्वारा 30 मई को जारी किया गया दिशा-निर्देश पूरी तरह से लागू रहेगा। केन्द्र सरकार ने इस संबंध में दिशा निर्देश जारी किए हैं। केन्द्र के ही निर्देशों का पालन राज्य सरकार कर रही है। इन निर्देशों के अनुसार केवल कंटेनमेंट जोन में ही लॉकडाउन रहेगा।

कोरोना संक्रमित सभी लोगों की होगी निगरानी

उन्होंने बताया कि लॉकडाउन का निर्धारण जिलाधिकारी करेंगे। जिस क्षेत्र में कोरोना संक्रमण के ज्यादा मामले आ रहे हैं। उन्हें कंटेनमेंट जोन में रखा गया है। उन्हें ईपी-सेंटन माना गया है उसके भौगोलिक स्थिति एवं बसावट को ध्यान में रख कर कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है। कंटेनमेंट जोन के लोगों की स्क्रीनिंग करायी जा रही है। कंटेनमेंट जोन में 28 दिनों तक विशेष निगरानी करनी है। अगर 28 दिनों में कोई नया मामला नहीं आता है तो उसे कंटेनमेंट फ्री जोन कर दिया जाएगा।

[inline_posts type=”related” box_title=”” align=”alignleft” textcolor=”#000000″ background=”#d1d1d1″][/inline_posts]

क्वारंटाइन सेंटरों के संबंध में भी उन्होंने जानकारी दी है। उन्होंने बताया कि राज्य में 3249 क्वारंटाइन सेंटर हैं। जिसमें कि 67 हजार 978 लोगों को रखा गया है। इन सेंटरों में अब तक 15 लाख 24 हजार 101 लोग हैं। जिसमें 14 लाख 56 हजार लोग अपनी निर्धारित अवधी पूरी कर लिए हैं। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार राज्य में 325 कंटेनमेंट जोन हैं। जबकि नियमों के अनुसार 34 कंटेनमेंट जोन को इससे फ्री कर दिया गया है। इन 34 में अरवल जिले में छह, बेगूसराय में चार, भागलपुर में दो, भोजपुर में चार, लखीसराय में चार, मधेपुरा में दो, मुंगेर में एक, नवादा में दो, और पूर्णिया में एक कंटेनमेंट जोन को फ्री कर दिया गया है। कंटेनमेंट जोन के हर घर का सर्वेक्षण किया जा रहा है।