क्वारंटाइन सेंटरों को बंद 15 जून के बाद बंद करेगी सरकार, पूर्व में दिए गए थे आदेश

0
700
bihar breaking news

बिहार में अन्य राज्यों से आने वाले प्रवासियों के लिए क्वारंटाइन सेंटर बनाए गए थे। अब क्वारंटाइ सेंटरों को 15 जून से बंद कर दिया जाएगा। पिछले दिनों बिहार सरकार द्वारा लिए गए निर्णय को अमल में लाते हुए ऐसा किया जाएगा। क्वारंटाइन सेंटरों को 29 अप्रैल से शुरू किया गया था। राज्य के सभी प्रखंड़ों में केन्द्र खोले गए। इन प्रखंड़ों में कुल 15 हजार क्वारंटाइन सेंटर खोले गए। इस दौरान उन केंद्रों में बाहर से आने वाले लोगों को रखा गया। इन सेंटरों में कुल 15 लाख 22 हजार से अधिक लोगों को रखा गया।

क्वारंटाइन सेंटरों को बंद करने का फैसल पिछले महीने हुआ

पिछले 31 मई को सरकार के आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा क्वारंटाइन सेंटरों के लिए आदेश जारी किया गया। इसमें कैम्पों को 15 जून से बंद करने के लिए कहा गया। कोरोना संक्रमण को रोकने के प्रयास में हर ब्लॉक और पंचायतों में इन सेंटरों को बनाया गया था। दूसरे राज्यों और बस या श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से आने वाले लोगों को इन कैम्पों में रखा गया। इस दौरान देश को प्रमुख शहरों से खासकर मजदूर वर्ग को लाया गया। इन्हें इन कैम्पों में रखा गया था। उनकी जांच के बाद कोई लक्षण नहीं होने पर उन्हें छोड़ दिया जाता था। इसके बाद उन्हें होम क्वारंटाइन रहने को लिए कहा गया।

[inline_posts type=”related” box_title=”” align=”alignleft” textcolor=”#000000″ background=”#c9c9c9″][/inline_posts]

केन्द्र सरकार ने 1 जून से कुछ ट्रेनों को चलाने का फैसला किया। ऐसे में बिहार सरकार ने केवल श्रमिक ट्रेनों से आने वाले लोगों को यहां रखा। पिछले कुछ दिनों के बहुत कम श्रमिक स्पेशल ट्रेनें आई हैं। ऐसे में अब क्वारंटाइन सेंटरों को बंद किया जा रहा है। शनिवार तक अब राज्य में केवल 20 हजार लोग ही इन कैम्पों में बचे हैं। जिनको 15 जून के बाद होम क्वारंटाइन रहने के लिए कहा जाएगा। प्रवासी मजदूरों को कैंपों से जाते समय उन्हें 500 रुपए दिए गए हैं। प्रवासियों के दूसरे राज्यों में खाता होने पर भी उन्हें वो राशी दी गई है।