गुरूवार, फ़रवरी 22, 2024
No menu items!
होमपॉलिटिक्सशाश्वत की प्रशांत किशोर पर आरोपों की झड़ी, PK की शैक्षणिक डिग्री...

शाश्वत की प्रशांत किशोर पर आरोपों की झड़ी, PK की शैक्षणिक डिग्री को बताया फेक

जदयू के पूर्व उपाध्यक्ष व चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर पर शाश्वत गौतम ने कई गंभीर आरोप लगाए हैं. शाश्वत गौतम ने आज पटना में प्रेस कांफ्रेंस आयोजित किया. इस प्रेस कांफ्रेस में मौजूद पत्रकारों के समक्ष शाश्वत ने प्रशांत किशोर के शैक्षणिक डिग्री पर सवाल उठा दिया. उन्होंने यहां तक कह दिया प्रशांत किशोर की डिग्री भी ठीक वैसे ही नकली है, जैसे प्रशांत के ‘बात बिहार की’ का कॉन्सेप्ट नकली है. शाश्वत का कहना था कि पीके ने बिहार की बात से मिलता जुलता बात बिहार की डोमन नेम बना लिया है. अगर साफ शब्दों में कहें तो प्रशांत किशोर पर आइडिया और डाटा चुराने का लगाया आरोप लगाया गया है.

विदित हो कि प्रशांत किशोर पर शाश्वत ने बिहार के युवाओं की डाटा चोरी किए जाने का आरोप लगाते हुए कहा है कि वो बिहार के युवाओं का आकड़ा साग्रहन कर रहे हैं. खुद तो कभी बड़े पद पर नौकरी नहीं कर पाए प्रशांत किशोर, क्योंकि उनकी शैक्षणिक योग्यता सही नहीं है. शाश्वत गौतम ने बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि प्रशांत किशोर अपनी शैक्षणिक योग्यता की जानकारी दें. शाश्वत गौतम का कहना है कि प्रशांत ने मुझपर सस्ती लोकप्रियता के लिए ये सब करने का आरोप लगाया है और इस तरह की बातें मैं बर्दाश्त नहीं कर सकता हूं. उन्होंने कहा कि वो सार्वजनिक रूप से मुझसे माफी मांगे, नहीं तो मैं कोर्ट तक जाऊंगा.

पीके ने कहा, यह महज एक स्ट्रंट है, सस्ती लोकप्रियता पाने का

विदित हो कि चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर प्रदेश के युवाओं को राजनीति से जोड़ने के लिए ‘बात बिहार की’ नाम से एक कैंपेन की शुरुआत की है. जिसपर कांग्रेस के लिए काम करने वाले शाश्वत गौतम ने डाटा चोरी करने का आरोप लगाया है, और धारा 420 के तहत पटना के पाटलिपुत्र थाने में एफआइआर दर्ज करायी है. जिसके बाद प्रशांत किशोर ने शाश्वत गौतम पर सस्ती लोकप्रियता हासिल करने का आरोप लगाते हुए जांच एजेंसी से मामले की पूरी जांच करने की बात कही है.

ईधर, शाश्वत गौतम का कहना है कि उन्होंने ‘बिहार की बात’ नाम का एक प्रोजेक्ट बनाया था और इस प्रोजेक्ट को आने वाले दिनों में बिहार में लॉन्च करने की बात की जा रही थी. इसी बीच ओसामा नाम के शख्स ने शाश्वत के यहां से इस्तीफा दे दिया और ‘बिहार की बात’ का सारा कंटेंट उसने प्रशांत किशोर को दे दिया.

शाश्वत को ओसामा जवाब

शाश्वत के आरोप के बाद ओसामा सामने आए और उन्होंने शाश्वत गौतम से सबूत मांगा हैं. ओसामा ने कहा, वे पटना यूनिवर्सिटी में एक्टिविस्ट रह चुके हैं और प्रशांत किशोर से उनकी मुलाकात पटना यूनिवर्सिटी छात्रसंघ चुनाव के दौरान हुई थी. उस वक्त छात्रसंघ चुनाव में प्रशांत किशोर ने अहम भूमिका निभाई थी. ओसामा ने कहा, ”छात्र संघ चुनाव में प्रशांत किशोर ने काफी मेहनत की थी. मैं उनकी मेहनत से काफी प्रभावित हुआ था. जहां तक कंटेट चुराने की बात है तो शाश्वत गौतम को ये बताना चाहिए कि वे किस कंटेट की बात कर रहे हैं.”

ओसामा का कहना है कि 26 अक्टूबर 2019 से ‘बिहार की बात’ को वे चला रहे हैं. इस नाम से कई फेसबुक पेज मिल जाएंगे, जिसे कई युवा चला रहे हैं. इसमें किसी का कोई दावा नहीं है. कुल मिलाकर ओसामा, शाश्वत गौतम के सभी आरोपों को बेबुनियाद व तथ्यहीन बताया हैं.

कृषि मंत्री की सीएम नीतीश को खुली चुनौती, हम आपके आदेश को नहीं मानेंगे

Badhta Bihar News
Badhta Bihar News
बिहार की सभी ताज़ा ख़बरों के लिए पढ़िए बढ़ता बिहार, बिहार के जिलों से जुड़ी तमाम अपडेट्स के साथ हम आपके पास लाते है सबसे पहले, सबसे सटीक खबर, पढ़िए बिहार से जुडी तमाम खबरें अपने भरोसेमंद डिजिटल प्लेटफार्म बढ़ता बिहार पर।
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular