Home बिहार गया जीतन राम मांझी ने दिया रघुवंश प्रसाद सिंह को एनडीए का ऑफर

जीतन राम मांझी ने दिया रघुवंश प्रसाद सिंह को एनडीए का ऑफर

0
570
bihar breaking news

पटना। पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह के राजद छोड़ने के बाद से लगातार उनके एनडीए में शामिल होने की अटकलें लगाई जा रही है। इस संदर्भ में जदयू संसदीय दल के नेता ललन सिंह ने पहले ही कहा कि अगर वे एनडीए में आते हैं तो उसका हृदय से स्वागत है। अब हाल ही में एनडीए में आए पूर्व मुख्यमंत्री व हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के अध्यक्ष जीतनराम मांझी ने उन्हें एनडीए में आने का आग्रह किया।

रघुवंश प्रसाद सिंह के राजद से इस्तीफा देने को देर से लिया गया कदम: मांझी

गया के गोदावरी स्थित आवास पर बात करते हुए पूर्व सीएम जीतनराम मांझी ने रघुवंश प्रसाद सिंह के राजद से इस्तीफा देने को देर से लिया गया कदम बताया। उन्होंने कहा कि हाल के दिनों में राजद द्वारा उनकी बेइज्जती की जा रही थी, इसलिए राजद से नाता तोड़ने का उनका निर्णय सराहनीय है और अगर वे एनडीए में आने का निर्णय लेते हैं तो वे व्यक्तिगत रूप से उनका स्वागत करेंगे।

 लालू प्रसाद यादव और राजद को आगे बढाने के लिए काफी मेहनत की :पूर्व सीएम

मांझी ने कहा कि रघुवंश प्रसाद सिंह समाजवादी और लोहियावादी नेता हैं जो बेबाकी से अपनी बात रखते हैं। उन्होंने पूर्व सीएम लालू प्रसाद यादव और राजद को आगे बढाने के लिए काफी मेहनत की पर हाल के दिनों में उनकी लगातार बेइज्जती की जा रही थी। कोई भी स्वाभिमानी नेता इस तरह की बेइज्जती बर्दाश्त नहीं कर सकता।

इसलिए उन्होंने राजद से नाता तोड़ने का निर्णय लिया। वहीं रघुवंश प्रसाद सिंह के बेटे के राज्यपाल कोटे से विधान पार्षद बनने की अटकलों के सवाल का जवाब देते हुए जीतनराम मांझी ने कहा कि उन्हें इस बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है। गौरतलब है कि गुरुवार को राजद नेता रघुवंश प्रसाद सिंह ने पार्टी से इस्तीफा दिया था।

75 की उम्र पार करने वाले नेताओं को चुनावी राजनीति से दूर हो जाना चाहिए

हालांकि राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने उन्हें ऐसा नहीं करने की अपील की। खुद के विधानसभा चुनाव लड़ने के सवाल का जवाब देते हुए जीतनराम मांझी ने कहा कि उनकी सोच है कि 75 की उम्र पार करने वाले नेताओं को चुनावी राजनीति से दूर हो जाना चाहिए। उनकी खुद की उम्र 77 साल हो गयी है।

इसलिए उन्होंने खुद चुनाव नहीं लड़ने की बात कही थी पर महागठबंधन से एनडीए में जाने के बाद से उनपर चुनाव लड़ने को लेकर कार्यकर्ताओं का चौतरफा दबाव पड़ रहा है। उनके वर्तमान इमामगंज सीट के साथ ही बाराचट्टी और मकदुमपुर विधानसभा क्षेत्र के कार्यकर्ता उनसे अपने अपने क्षेत्र में चुनाव लड़ने का दवाब बना रहे हैं।

पूर्व विस अध्यक्ष को हराने के लिए आपका चुनाव लड़ना जरूरी है : कार्यकर्ता

इमामगंज के कुछ कार्यकर्ताओं ने कहा कि पूर्व विधानसभा अध्यक्ष उदय नारायण चौधरी को हराने के लिए आपका चुनाव लड़ना जरूरी है पर उन्होंने अभी तक चुनाव लड़ने को लेकर किसी तरह का अंतिम फैसला नहीं लिया है।

वहीं अंदरखाने की खबर है कि कार्यकर्ता के साथ बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने भी जीतनराम मांझी को इमामगंज से चुनाव लड़ने की सलाह दी है ताकि पूर्व विस अध्यक्ष उदय नारायण चौधरी को हराया जा सके। हाल के दिनों में जीतनराम मांझी ने अपने इमामगंज विधानसभा में लगातार भ्रमण भी कर रहें हैं।

भ्रष्टाचार में डूबी पार्टी छोड़ने के लिए रघुवंश बाबू को सलाम…

NO COMMENTS