Thursday, June 20, 2024
Homeबिहारपटनासीएम नीतीश ने की राज्यसभा में उपसभापति के साथ विपक्ष के बर्ताव...

सीएम नीतीश ने की राज्यसभा में उपसभापति के साथ विपक्ष के बर्ताव की निंदा

पटना। बिहार में सत्तारूढ़ राजग के नेताओं ने कहा कि कृषि विधेयकों के राज्यसभा में पारित होने के दौरान उपसभापति हरिवंश के साथ विपक्ष के बर्ताव ने बिहार की प्रतिष्ठा को ‘चोट’ पहुंचायी। इसका जवाब उन्हें राज्य की जनता देगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सोमवार को वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए बिहार में 14,260 करोड़ रूपये की लागत से 350 किलोमीटर लंबी नौ राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं का शिलान्यास किया।

‘राज्यसभा में कल जो कुछ हुआ वह बहुत ही गलत था

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रधानमंत्री से कहा,’कृषि के क्षेत्र में आपने जो नए दो कानून बनाये यह गांव एवं किसान के हित में है। किसान जहां चाहें अपनी उपज बेंच सकते हैं। नीतीश ने कहा,’वर्ष 2006 में बिहार में हमलोगों ने एपीएमसी (कृषि उपज बाजार समिति) कानून को समाप्त किया था।’ उन्होंने कहा,’राज्यसभा में कल जो कुछ हुआ वह बहुत ही गलत था। इसकी जितनी निंदा की जाए वो कम है।’ नीतीश ने कहा कि एपीएमसी से काफी दिक्कतें थी। बिहार में एपीएमसी कानून हटाते वक्त बिहार विधानमंडल में भी विपक्ष ने कुछ ऐसा ही किया था।

बिहार में पैक्स के माध्यम से होती है अनाज की खरीद

उन्होंने प्रधानमंत्री से कहा,’नये कानून के तहत कांट्रेक्ट फार्मिंग से किसान लाभान्वित होंगे। ये काम आम लोगों के हक में हुआ है। इसका लाभ सभी लोगों को मिलेगा। लोगों की आमदनी बढेगी।’ नीतीश ने कहा कि बिहार में पैक्स (प्राइमरी एग्रीकल्चर कॉपरेटिव सोसाइटी) के माध्यम से अनाज की खरीद होती है।

उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कही ये बात

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा,‘राज्यसभा के उपसभपति के साथ सदन में जो अमर्यादित घटना हुई,उसने पूरे बिहार की अस्मिता को ठेस पहुंचायी है। विपक्ष ने लोकतंत्र के मंदिर में जिस तरह का अमर्यादित व्यवहार किया वह निंदनीय है। इससे बिहार के सभी लोग मर्माहत हैं। विपक्ष के बर्ताव का बिहार की जनता करारा जवाब देगी।’ बाद में पत्रकारों को संबोधित करते हुए सुशील मोदी ने कहा,’ यह राज्यसभा के इतिहास में पहली बार हुआ। राजद जैसी पार्टी उन लोगों के साथ शामिल थी’ उन्होंने कहा कि बिहार में एपीएमसी कानून हटाते वक्त बिहार विधानमंडल में भी विपक्ष ने कुछ ऐसा ही किया था। ये लोग सदन छोड़कर भाग गए थे। सुशील ने आरोप लगाया कि राजद फिर से किसानों को बाजार समिति के चंगुल में फंसाने की साजिश कर रही है। राजद के नेता बिहार में फिर से बाजार समिति कानून लाना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि राजद के लोगों से जानना चाहता हूं कि क्या वह फिर बाजार समिति का राज लाना चाहते हैं। बिहार के अंदर दोबारा लागू करेंगे। क्या फिर से बिहार में किसानों का शोषण होगा।

राज्यसभा में हरिवंश जी पर हमला संसद और बिहार का अपमान…
Badhta Bihar News
Badhta Bihar News
बिहार की सभी ताज़ा ख़बरों के लिए पढ़िए बढ़ता बिहार, बिहार के जिलों से जुड़ी तमाम अपडेट्स के साथ हम आपके पास लाते है सबसे पहले, सबसे सटीक खबर, पढ़िए बिहार से जुडी तमाम खबरें अपने भरोसेमंद डिजिटल प्लेटफार्म बढ़ता बिहार पर।
RELATED ARTICLES

अन्य खबरें