कब खत्म होगा लॉकडाउन, कब खुलेगा? मुख्यमंत्री से सलाह कर मोदी लेंगे फैसला

0
9551
bihar breaking news

कोरोना वायरस संक्रमण के वजह से पुरे देश में लॉकडाउन की स्थिति बनी हुई है। साथ ही लोगों में भी उहापोह की स्थिति है की क्या आगामी 15 तारीख से लॉकडाउन खत्म हो जायेगा? लॉकडाउन कब खुलेगा? इसी क्रम में आज सरकार ने विभिन्न राजनितिक दलों के साथ बैठक की है। बैठक में पीएम मोदी ने कहा कि अलग अलग राज्यों, वहां के जिला प्रशासन और देश के कई विशेषज्ञों ने कोरोना वायरस के प्रसार के रोकथाम के लिए लॉकडाउन के आगे बढ़ाने का सुझाव दिया है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि इस गंभीर परिस्थिति में देश को एक साथ आकर अपनी कार्य संस्कृति और कार्य करने की शैली में बदलाव लाने का प्रयास करना होगा। उन्होंने कहा कि भारत सरकार की प्राथमिकता प्रत्येक व्यक्ति के जीवन को बचाना है। कोरोना वायरस के कारण पूरा देश गंभीर आर्थिक चुनौतियों का सामना कर रहा हैं और पूरी भारत सरकार इससे निपटने के लिए तैयार है।

लॉकडाउन कब खुलेगा?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बताया की 80 फीसदी राजनीतिक पार्टियां देश में लगे लॉकडाउन को आगे बढ़ाने के पक्ष में हैं। पीएम मोदी ने कहा कि उन्हें विभिन्न राज्यों से भी इसी तरह की गुजारिश की जा रही है। हालाँकि इस सब के बीच उन्होंने कहा कि उचित समय में और भी लोगों से चर्चा करेंगे और चर्चा के बाद ही कोई निर्णय लेंगे।

लॉकडाउन के बीच प्रेमी-प्रेमिका ने दी अपनी जान, ये थी वजह

मुख्यमंत्रियों के साथ समीक्षा बैठक तय

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ एक बार फिर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर उनसे लॉक डाउन के ऊपर चर्चा करेंगे और उनसे सलाह लेकर लॉकडाउन को आगे बढ़ाने के निर्णय पर आखिरी फैसला लेेंगे। मुख्यमंत्रियों के साथ यह वीडियो कॉल कॉन्फ्रेंसिंग 11 अप्रैल को सुबह 11 बजे किया जाना तय हुआ है।

मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक में लॉकडाउन की समीक्षा होगी। सरकार की जरूरतमंदों को दी जाने वाली सहायता राशि और राशन की समीक्षा होगी और लॉकडाउन आगे बढ़ाने पर चर्चा हो सकती है। पहले ही कई राज्य लॉकडाउन को आगे बढ़ाने की गुजारिश प्रधानमंत्री मोदी से कर चुके हैं।

लॉकडाउन खत्म करने पर बिहार जता सकता है असहमति

इधर लॉकडाउन को पूरी तरह से खत्म किए जाने के निर्णय पर बिहार भी अपनी असहमति जता सकता है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इस संबंध में विशेषज्ञों और डॉक्टरों से परामर्श कर रहे हैं। दो-तीन दिन के भीतर इस बाबत वह उन लोगों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग भी कर सकते हैं। इसके बाद सरकार के स्तर पर आधिकारिक रूप से लॉकडाउन को विस्तारित किए जाने के मसले पर मुख्यमंत्री का सम्बोधन आ सकता है। सरकार के स्तर पर इस बात पर सीधी सहमति है कि फिलहाल ट्रेन और हवाई सेवा सहित पब्लिक ट्रांसपोर्ट पर पूरी तरह से पाबंदी रहे।

बिहार कोरोना सहायता के जरिए लाखों लोगों को मिला लाभ, ऐसे कर सकते हैं अप्लाई

सरकार के स्तर पर विश्लेषण किया गया कि लॉकडाउन की वजह से स्थिति बहुत हद तक नियंत्रित हुई है। लॉकडाउन अचानक खत्म होता है तो भीड़ तेजी से बाहर आएगी। फिजिकल डिस्टेंसिंग की धज्जी उड़ जाएगी। ऐसे में स्थिति को नियंत्रित करना बूते की बात नहीं रहेगी।

जिलों के स्तर पर हो सकता है फैसला

यह विमर्श चल रहा है कि लॉकडाउन उन जिलों में तो एकदम खत्म नहीं किया जाए जहां अधिक मामले होने की आशंका है। एक तरह से वे जिले हॉटस्पॉट के रूप में चिह्न्ति होने की प्रक्रिया में हैं। देश के बाहर खासकर हाल में खाड़ी देशों से आए लोगों की संख्या वहां अधिक रही है। एहतियातन इन जिलों में लोगों को अगले पंद्रह दिनों तक और घर में रहने को कहा जा सकता है।

कोरोना वायरस संक्रमण और पुरे देश में लगे लॉकडाउन को लेकर पीएम मोदी ने आज देश कि विभिन्न राजनीतिक पार्टियों के फ्लोर लीडर्स के साथ बातचीत की। वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए पीएम मोदी ने बीजेपी, कांग्रेस, डीएमके, एआईएडीएमके, टीआरएस, सीपीआईएम, टीएमसी, शिवसेना, एनसीपी, अकाली दल, एलजेपी, जेडीयू, एसपी, बीएसपी, वाईएसआर कांग्रेस और बीजेडी के फ्लोर लीडर्स के साथ कोरोना संक्रमण और लॉकडाउन हटाने या बढ़ाने पर चर्चा की।