दिल्ली निजामुद्दीन मरकज में शामिल 37 लोग मिले, बाकी 49 संदिग्धों की तलाश जारी

0
1050
bihar breaking news

देश की राजधानी दिल्ली के निजामुद्दीन में कोरोनावायरस का केंद्र बने मरकज में बिहार के 86 लोग शामिल थे। इनमें से 37 लोगों की ट्रैकिंग हो गई है और लोगों की पहचान के लिए लगातार जिला स्तर पर इनकी खोज हो रही है। ट्रैक किये गए सभी 37 लोगों में से 17 पटना में, 13 बक्सर में और 7 कटिहार में मिले। बाकी बचे 49 लोगों की तलाश के लिए बिहार ATS की टीम को यह जिम्मेदारी दी गयी है कि जल्द से जल्द बाकी के लोगों का पता लगाया जाए।

प्रशासन ने सभी जिलों को इस संबंध में अलर्ट किया गया है। बिहार के इन लोगों के आयोजन में शामिल होने की जानकारी मिलने के साथ ही स्वास्थ्य विभाग ने जिलों को हर व्यक्ति की पहचान करने के निर्देश दिए थे। वहीं, गया जिले के तीन लोग जो जमात में शामिल थे उनका कोई पता नहीं चल सका है। वहीं अररिया जिले में मरकज में शामिल एक विदेशी युवक की मौत हो गई थी, जिसे जिलाधिकारी ने प्राकृतिक मौत बताया था।

सात लोगों की मौत से भूचाल

ईधर, मुख्य सचिव दीपक कुमार ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि 162 लोगों की लिस्ट हमारे पास है जिसमे 52 इंटरनेशनल ट्रेवलर हैं। कुछ लोग बिहार में हैं और कुछ लोग बिहार से बाहर जा चुके हैं। सबको ट्रेस किया जा रहा है। बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा कि मरकज के 86 लोग बिहार के हैं। विदेश के रहने वाले 57 लोग बिहार में आये। हम बिहार आये सभी विदेशी की जांच करा रहे हैं। मरगज में आये बाकी के 49 लोगों को खोजने में ATS को लगाये जाने के सवाल पर DGP ने कहा कि ATS भी हमारा विंग ही है। उन्होंने कहा कि इन सभी लोगों को ट्रेस करने में भी हमने ATS की मदद ली है।

गौरतलब है कि दिल्ली के निजामुद्दीन में आयोजित तब्लीगी मरकज में शामिल होने वालों में सात लोगों की मौत के बाद पूरे देश में भूचाल आ गया है। वैसे, अररिया में भी इंडोनेशिया के एक नागरिक की मौत 26 मार्च को हुई थी। वह भी मरकज में शामिल होकर अपने जत्थे के साथ अररिया लौटा था। यद्यपि, अररिया के डीएम इसे स्वाभाविक मौत बता रहे हैं।