Thursday, July 18, 2024
Homeबिहारपटनाराजधानी पटना में विश्व नदी दिवस पर कार्यक्रम आयोजित

राजधानी पटना में विश्व नदी दिवस पर कार्यक्रम आयोजित

आयोजित कार्यक्रम में पटना के विभिन्न संस्थाओं ने लिया नदी को बचाने का संकल्प
पटना। राजधानी पटना के महेन्द्रू घाट स्थित गंगा के तट पर रविवार को एक्शन एंड एसोसिएशन एवं विभिन्न सामाजिक संगठनों क्रमशः संगठित क्षेत्र कामगार संगठन,बिहार विकलांग अधिकार मंच, भोजन का अधिकार अभियान, बिहार घरेलू कामगार संघ के संयुक्त तत्वाधान में नदी दिवस के अवसर पर जल संवाद का आयोजन कार्यक्रम संपन्न हुआ। इस मौके पर एक्शन एंड संस्था के पंकज स्वेताभ ने बताया कि वर्ष 2005 से प्रत्येक वर्ष के सितंबर माह की आखिरी रविवार को विश्व नदी दिवस का आयोजन पूरे विश्व में नदियों के अस्तित्व की रक्षा के लिए आयोजित की जाती है।

नदी पृथ्वी की जीवन रेखा,जीवनशैली को बनाने के लिए महत्वपूर्ण 

उन्होंने कहा कि नदी पृथ्वी की जीवन रेखा और उनकी जीवनशैली को बनाए रखने के लिए महत्वपूर्ण है। अगर नदी नहीं हो तो पृथ्वी से जल विलुप्त हो जाएगी साथ ही सारे जीव-जंतु का अस्तित्व समाप्त हो जाएगा। इसलिए नदियों की रक्षा जरूरी है। इस अवसर पर जल के मुद्दे पर कार्य करने वाले वरिष्ठ समाजसेवी रंजीव कुमार ने कहा कि मानव आधुनिक विकास को लेकर प्राकृतिक संसाधनों का दुरुपयोग तथा प्राकृतिक धरोहरों के साथ छेड़छाड़ मनमाने ढंग से कर रहे हैं।

नदियां मानव सभ्यता के विकास की जननी है

 

राजधानी पटना में विश्व नदी दिवस पर कार्यक्रम आयोजित

जिस कारण नदियों की स्थिति आज खतरे में है। वहीं बिहार घरेलू कामगार संघ की सिस्टर लिमा रोज ने कहा कि नदी को बचाना हमारे जीवन की आज बहुत ही जरूरी है। मानव का जीवन नदियों से जुड़कर उसका विकास होता है, नदी न होगा तो मानव का विकास नहीं हो पाएगा। संपूर्ण मानव का विकास के लिए नदियों का होना आवश्यक है और नदियों को कई तरह से साफ-सफाई कर सुरक्षित रखा जा सकता है। वहीं बिहार विकलांग अधिकार मंच के राज्य सचिव राकेश कुमार ने नदियों की सुरक्षा एवं इससे जुड़े व्यवसाय में लगे श्रमिकों के हित पर प्रकाश डालते हुए कहा कि नदियां मानव सभ्यता के विकास की जननी है हम सब मिलकर समाज और सरकार को नदियों की सुरक्षा के लिए संवेदनशील बनाएं।

असंगठित क्षेत्र कामगार संगठन के महासचिव अजय कुमार ने कहा कि हम सभी मानव अपनी-अपनी सुख-सुविधाओं के लिए नदी एवं प्राकृतिक संसाधनों का दोहन कर रहे हैं। जिससे नदियां सूख रही है और विलुप्त भी हो रही है। नदियों से जुड़े श्रमिकों की अनदेखी की जा रही है इनके अधिकार को सुनिश्चित कराना अति आवश्यक है। इस कार्यक्रम में उपस्थित असंगठित क्षेत्र कामगार संगठन के राज्य विजयकांत सिन्हा ने कहा कि आज नदी दिवस के अवसर पर हम सभी संकल्प लेते हैं कि नदियों की सुरक्षा और पर्यावरण की रक्षा के लिए समाज को जागरूक करेंगे।

साथ ही साथ सरकार की जिम्मेदारी को सुनिश्चित कराएंगे। इस मौके पर विभिन्न संगठनों के प्रतिनिधियों अभिषेक कुमार, सुनील कुमार बसु, आनंद आशीष,मनोज कुमार, रतन आर्य,रित्विज कुमार, राजेश पांडे आदि दर्जनों लोग उपस्थित होकर नदियों की सुरक्षा एवं पर्यावरण की रक्षा को लेकर अपने-अपने महत्वपूर्ण विचारों से लोगों को अवगत कराया।

पालीगंज में बिहार चुनाव को लेकर पत्रकारों संग एसडीओ ने किया…
Badhta Bihar News
Badhta Bihar News
बिहार की सभी ताज़ा ख़बरों के लिए पढ़िए बढ़ता बिहार, बिहार के जिलों से जुड़ी तमाम अपडेट्स के साथ हम आपके पास लाते है सबसे पहले, सबसे सटीक खबर, पढ़िए बिहार से जुडी तमाम खबरें अपने भरोसेमंद डिजिटल प्लेटफार्म बढ़ता बिहार पर।
RELATED ARTICLES

अन्य खबरें