Friday, July 12, 2024
Homeबिहार गुंजनबिना थाना पुलिस का एक अनूठा गांव, कोई केस और एफआईआर भी...

बिना थाना पुलिस का एक अनूठा गांव, कोई केस और एफआईआर भी नहीं

बिहार हमेशा आपराधिक घटनाओं के कारण चर्चा में रहता है लेकिन हमारे राज्य में एक ऐसा अनूठा गांव है जहाँ आजतक कभी पुलिस थाने किए जरुरत महसूस नहीं हुई। हम आज आपको बता रहे हैं बिहार के एक ऐसे गांव की कहानी जो पूरी तरह से अपराध मुक्त है। इस गांव में लगभग 700 लोगों की आबादी निवास करती है लेकिन आपसी भाईचारा ऐसी है की किसी को आज तक थाने का मुंह देखने की जरुरत नहीं पड़ी।

लोग आज तक थाना नहीं गए

बिहार के कैमूर जिले के इस गांव के लोग आज तक थाना नहीं गए और न ही किसी कार्ट या कचहरी के चक्कर लगाए। इस गांव में रहने वाले 700 लोगों में से किसी भी व्यक्ति पर आजतक कोई केस भी दर्ज नहीं हुआ। कैमूर जिला का सरेयां गांव आज आदर्श ग्राम के तौर पर अपनी पहचान बना चुका है। अनूठा गाँव सरेया, कैमूर जिला के मोहनियां थाना के अंतर्गत आता है। इस गांव में लगभग 65 घर है जहाँ लगभग 700 लोग निवास करते हैं और यहाँ के लोग एक दूसरे को परिवार की तरह मानते हैं।

गांव के अंदर ही सुलझाया जाता है विवाद

इस अनूठे गाँव में गाहे बगाहे कभी कोई विवाद हो जाता है तो गांव के लोग आपस में पंचायत लगाकर दोनों पक्षों का समझौता करा देते है। गांव की इस अनूठे खासियत को देखकर कैमूर जिला के डीएम अरविंद सिंह ने इसे आदर्श ग्राम घोषित किया था। गांव के ही प्रखंड उप-प्रमुख बताते है कि हमें गर्व होता है कि हम इस गांव के रहने वाले के साथ यहाँ के जनप्रतिनिधी भी हैं। हम चाहते भी हैं कि मेरे गांव के लोगों की तरह ही बिहार के और भी लोग रहें और हमारा राज्य अपराधमुक्त रहे।

पांच साल की नौकरी में 1.72 करोड़ उड़ा पटना-दिल्ली में बनाये मकान

उपप्रमुख और गांव के निवासी प्रमोद सिंह बताते है कि उन्हें गर्व होता है कि वह इस गांव के निवासी हैं। अन्य गांव के लोगों से अपील करते हुए वह कहते है कि बिहार के लोग भी अपराध और केस-मुकदमे से दूर रहें और राज्य के विकास में भागीदार बनें।

इस अनूठे गांव की एक महिला मंजू देवी बताती हैं कि मेरे गांव में कोई केस नहीं है। गांव में कभी कोई विवाद या ऐसा मामला होता है तो घर के लोग ही इसे आपस में सुलझा लेते हैं। मेरा गांव अपराध मुक्त है और यहां पूर्व से भी कोई मामला नहीं है। गांव में कभी पुलिस आई भी नहीं और न ही गांव के किसी शख्स को कोर्ट कचहरी जाना पड़ा।

बिहार में जहाँ हर तरफ अपराध का बोलबाला है, इस गाँव की कहानी सुनकर ऐसा लगता है की काश हमारे बिहार में हर गाँव इसी तरह का होता और हमारा राज्य पुरे देश में काम अपराध वाला राज्य बन पाता।

Source: News18

Badhta Bihar News
Badhta Bihar News
बिहार की सभी ताज़ा ख़बरों के लिए पढ़िए बढ़ता बिहार, बिहार के जिलों से जुड़ी तमाम अपडेट्स के साथ हम आपके पास लाते है सबसे पहले, सबसे सटीक खबर, पढ़िए बिहार से जुडी तमाम खबरें अपने भरोसेमंद डिजिटल प्लेटफार्म बढ़ता बिहार पर।
RELATED ARTICLES

अन्य खबरें