मुख्यमंत्री नीतीश ने लोगों से के सामान का बहिष्कार करने को कहा

0
636
bihar breaking news

पिछले दिनों भारत-चीन सीमा पर हुए संघर्ष में 20 जवानों मारे गए थे। अब बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इसको लेकर आज बयान दिया है। अभी सीमा पर दोनों देशों के बीच तनाव पूर्ण हालात हैं। इसको लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को सर्वदलीय बैठक की। इस बैठक के लिए सभी राजनीतिक दलों को निमंत्रित किया गया था। यह बैठक वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से की गई। इस दौरान भारत के मारे गए 20 सैनिकों को श्रद्धांजलि दी गई। पिछले दिनों चीन के साथ संघर्ष में ये जवान शहीद हुए थे।

मुख्यमंत्री नीतीश का चीन पर बड़ा बयान

[inline_posts type=”related” box_title=”” align=”alignleft” textcolor=”#000000″ background=”#bfbdbd”][/inline_posts]

मुख्यमंत्री और जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार ने सर्वदलीय बैठक में हिस्सा लिया। उस दौरान उन्होंने कहा कि चीन के उत्पादों की हमलोग नहीं खरीदेंगे। इसके लिए पूर्व में किए गए करार पर विचार किया जाएगा। हमें स्वदेशी सामान को बढ़ावा देने की जरूरत है, जो कि हमारे एनडीए सरकार की प्राथमिकता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि चीन के समान से पर्यावरण का संकट भी पैदा हो रहा है। चीन के खिलौने भारत के बाजारों में बड़ी संख्या में बिक रहे हैं। इसके अलावा बिजली के सामानों की भी भरमार पड़ी हुई है। जो कि प्लास्टिक का उपयोग अत्यधिक है। चीन का सामान टिकाऊ भी नहीं है। भले ही चीन के सामानों की कीमत कम हो।

उन्होंने कहा कि चीन के खिलाफ हम एकजुट हैं। चीन की सभी हरकतों पर हमारा विशेष ध्यान है। हम चीन के खिलाफ एकजुट हैं। सभी लोग इस संघर्ष का बदला लेने की बात कर रहे हैं। हम अपने शहीदों के नमन करते हैं। हम चीन की किसी भी हरकत को बर्दाश्त नहीं करेंगे। सभी दलों ने चीन के खिलाफ केन्द्र का समर्थन किया है। प्रधानमंत्री जो भी निर्णय लेंगे सब कोई उनके साथ रहेगा। हमने अपने ओर से हमेशा शांति की कोशिश की है। लेकिन चीन का रवैया सही नहीं है। ऐसे में चीन की हरकत को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।