Home बिहार पटना अंतरराष्ट्रीय वैश्य महासम्मेलन ने किया एक दिवसीय चिंतन विचार गोष्ठी का...

अंतरराष्ट्रीय वैश्य महासम्मेलन ने किया एक दिवसीय चिंतन विचार गोष्ठी का आयोजन

0
912
bihar breaking news

पटना। बिहार की राजधानी पटना में अंतरराष्ट्रीय वैश्य महासम्मेलन, बिहार इकाई के तत्वावधान में एक दिवसीय महत्वपूर्ण चिंतन विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया। जहां आगामी बिहार विधानसभा चुनाव में वैश्यों की महत्वपूर्ण भूमिका एवं विभिन्न दलों से जनसंख्या के अनुपात में वैश्य समाज की हिस्सेदारी की बात कही गई।

बिहार के एनडीए गठबंधन से 51 सीटों की मांग किया

गोष्ठी की अध्यक्षता महासम्मेलन के अध्यक्ष डॉ. (प्रो.) जगन्नाथ प्रसाद गुप्ता ने किया जबकि मंच का संचालन संगठन के प्रधान महासचिव मनोज कुमार गुप्ता (अधिवक्ता) ने किया। मौके पर अपने अध्यक्षीय भाषण में प्रो. गुप्ता ने कहा कि बिहार में 27% आबादी वैश्य एवं व्यवसाय समाज का है। 27% आबादी के हिसाब से 66-67 सीट वैश्यों का बनता है लेकिन हमने बिहार के एनडीए गठबंधन से 51 सीटों की मांग किया है। इन 51 सीटों की सूची बहुत जल्द ही पार्टी के राष्ट्रीय एवं प्रांतीय नेताओं को सुपुर्द किया जाएगा। उन्होंने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि संगठन की मांग पर अगर एनडीए गठबंधन गंभीरतापूर्वक विचार नहीं करता है तो फिर अंतर्राष्ट्रीय वैश्य महासम्मेलन बिहार के 120 विधानसभा सीटों पर निर्दलीय चुनाव लड़ने का भी मन बना लिया है,जिसकी जवाबदेही वैश्य नेताओं पर नहीं होगी।

डॉ.(प्रो.) जगन्नाथ प्रसाद गुप्ता को कुम्हरार विधानसभा से उम्मीदवार बनाया जाए

वहीं चिंतन शिविर में वैश्य समाज के नेताओं ने पुरजोर तरीके से आवाज उठाते हुए भाजपा से मांग किया कि डॉ.(प्रो.) जगन्नाथ प्रसाद गुप्ता को कुम्हरार विधानसभा से उम्मीदवार बनाया जाए। वह एक जुझारू समाजसेवी एवं बुद्धिजीवी कार्यकर्ता हैं। इनको टिकट मिलने से पूरे बिहार में वैश्य समाज के बीच एक अच्छा संदेश जाएगा और इसका अच्छा परिणाम विधानसभा में देखने को मिलेगा। वैश्य नेताओं ने विचार गोष्ठी के माध्यम से पटना जिला अंतर्गत कुम्हरार, पटना साहिब, बांकीपुर और दानापुर विधानसभा के इन 4 सीटों पर वैश्य समाज के लोगों को उम्मीदवार बनाने की मांग एनडीए गठबंधन से की साथ में वैश्य नेताओं ने प्रत्येक लोकसभा के अंतर्गत कम से कम 1-1 सीट देने की भी आवाज उठाई।

वैश्य समाज को हमेशा उपेक्षा की दृष्टि से देखा जाता है

वहीं महासम्मेलन के प्रदेश उपाध्यक्ष अशोक कुमार चौधरी ने कहा कि वैश्य समाज को हमेशा उपेक्षा की दृष्टि से देखा जाता है। सभी पार्टियां सिर्फ वैश्यों का उपयोग करती है और जब टिकट की बारी आती है तो उन्हें हाशिए पर ढकेल दिया जाता है। इस बार विधानसभा चुनाव में लाखों वैश्य मतदाता डॉ. (प्रो.) जगन्नाथ प्रसाद गुप्ता के साथ हैं और वह जहां से उम्मीदवार देंगे, जिसके पक्ष में बोलेंगे, संपूर्ण वैश्य समाज डॉ. गुप्ता को अपना नेता मानते हुए उनके कहने पर मतदान करेंगे।

विचार गोष्ठी में राजेश्वर प्रसाद राजेश, ई.उमाशंकर प्रसाद कमल नोपानी, रमेश गांधी, संतोष कुमार जायसवाल, प्रिंस कुमार राजू, वीणा मानवी, मनोज कुमार गुप्ता, दिलीप कुमार, अवधेश कुमार भक्त, सौरव भगत, गंगोत्री प्रसाद, बमबम शाह, डॉ राजेश रोशन, आलोक अग्रवाल, आशीष बलिदानी, सुनील जायसवाल, अभिषेक रंजन मोंटी, आदित्य अग्रवाल, गोविंद बंसल, कृष कुमार आजाद,

सुनील कुमार गुप्ता, विक्रमादित्य प्रसाद विक्रम, राजेश रोशन, युवा अध्यक्ष राजन कुमार गुप्ता, छात्र अध्यक्ष मोहन कुमार, राजू वर्णवाल, शिव कुमार गुप्ता, दीपक अग्रवाल के अलावा प्रदेश के कई पदाधिकारी जिला अध्यक्ष एवं कई विधानसभा के संयोजकों ने हिस्सा लिया। अंत में विचार गोष्ठी का धन्यवाद ज्ञापन अवधेश कुमार भक्त ने किया।

राजद के टिकट पर जेल में बंद बाहुबली विधायक अनंत सिंह…

NO COMMENTS