बिहार कोरोना अपडेट: चार दिन में दोगुना हुआ संक्रमण, एक दिन में सर्वाधिक 53 मामले

0
1505
bihar breaking news

शुक्रवार का दिन बिहार के लिए अब तक का सबसे ज्यादा कोरोना संक्रमण मरीज देने वाला दिन दर्ज किया गया। पुरे राज्य में एक दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के सर्वाधिक 53 मामले मिले। यह अब तक की एक दिन की सबसे बड़ी संख्या है। इन मरीजों में दो पटना के हैं जिनमें डाकबंगला स्थित एक निजी बैंक का एक कर्मी शामिल है। सर्वाधिक 31 लोग जमालपुर (मुंगेर), दो बिहारशरीफ (नालंदा) एक अस्थावां (नालंदा), 12 बक्सर और एक बांका के बिशुनपुर, दो औरंगाबाद से जबकि मधेपुरा और सारण से एक-एक मामले शामिल हैं। मधेपुरा व औरंगाबाद से पहली बार संक्रमित मिले हैं। कोरोना प्रभावित जिलों की संख्या 20 हो गई है। संक्रमितों में 26 पुरुष और 27 महिलाएं हैं। 53 नए संक्रमित मिलने के बाद में राज्य में कोरोना संक्रमितों की संख्या 223 पर पहुंच गई है।

बिहार के मुंगेर से मिले 31 कोरोना संक्रमित

स्वास्थ्य विभाग की ओर दी गयी जानकारी के अनुसार शुक्रवार को सर्वाधिक संक्रमित जमालपुर से मिले हैं। मुंगेर के जमालपुर में संक्रमितों की संख्या 31 पायी गयी है। यह सभी लोग नालंदा की जमात से लौटे व्यक्ति की चेन में शामिल हैं। स्वास्थ्य के प्रधान सचिव संजय कुमार ने बताया कि जमालपुर से मिले संक्रमितों में 14 पुरुष और 17 महिलाएं पाए गए हैं। शुक्रवार को मिले 31 संक्रमितों को मिलाकर मुंगेर में कुल संक्रमितों की संख्या 62 पर पहुंच गई है।

बिहार के राजधानी पटना में कोरोना संक्रमण का चेन

बीते शुक्रवार को बिहार की राजधानी पटना जिले से दो संक्रमित मिले हैं। इनमें एक पॉजिटिव डाकबंगला चौराहे के पास से सामने आया जबकि एक अन्य जो महिला है मसौढ़ी के लहसुना गाँव की बताई जा रही है। कोरोना वायरस का संक्रमण राजधानी के नए इलाकों में पैर पसार रहा है। शुक्रवार को खाजपुरा से निकलकर राजधानी का हृदयस्थल डाकबंगला, पटेलनगर और मसौढ़ी भी इसकी जद में आ गया। दो नए पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद अब पटना में संक्रमितों की कुल संख्या 26 हो गई है। इसमें से 16 सिर्फ खाजपुरा के हैं। पांच लोग स्वस्थ हो चुके हैं जबकि 18 का अभी इलाज चल रहा है।

सिविल सर्जन डॉ. राजकिशोर ने बताया कि आइजीआइएमएस से आई रिपोर्ट में डाकबंगला स्थित बैंक ऑफ बड़ौदा के 40 वर्षीय चेस्ट कैशियर में कोराना संक्रमण की पुष्टि हुई है। वह पटेलनगर के आदर्श पथ रोड नंबर पांच का रहने वाले हैं। इसके अलावा मसौढ़ी के लहसुना की 40 वर्षीय महिला भी पॉजिटिव मिली है। वह फुलवारीशरीफ में बेटी के पास रहकर एम्स में इलाज करा रही थी। अब इन दोनों लोगों के संक्रमण की चेन की तलाश शुरू हो गई है।

बिहार में तेज़ी से मिले रहे नए कोरोना के मामले, अब संख्या 200 के करीब

पटेल नगर का रोड नंबर 5 सील

कोराना पॉजिटिव कैशियर के आवास पटेल नगर के आदर्श पथ रोड नंबर पांच को शुक्रवार की रात बैरिकेडिंग कर सील कर दिया गया। पुलिस देर रात तक पीड़ित के अपार्टमेंट को भी सील करने की कार्रवाई में जुटी रही। मुहल्ले के लोगों को जैसे ही पता चला कि अपार्टमेंट के एक फ्लैट में रहने वाला युवक कोराना पॉजिटिव निकला है, लोग सहम गए।

इधर पिछले 5 दिनों से खाजपुरा इलाके में करीब 250 परिवार में 1100 लोग नजरबंद हैं। वहीं जगदेव पथ में भी करीब तीन सौ लोगों को घरों में रहने की सलाह दी गई है। खाजपुरा के तीन किलोमीटर के दायरे में कोरोना का दहशत इस कदर बढ़ गया है कि दूसरे दिन भी बच्चे, बुजुर्ग, महिलाएं गली में भी नहीं दिखे। कुछ युवा हैं जो अंधेरा होते ही खुद इलाके की पहरेदारी करने में जुटे हैं। जगदेव पथ में भी चौकसी बढ़ा दी गई है।

मास्क पहनना हुआ अनिवार्य

बिहार सरकार ने राज्य में 24 अप्रैल से सभी के लिए मास्क पहना अनिवार्य कर दिया है। मास्क के उपयोग के बाद इसके निस्तारण के लिए राज्य के 143 नगर निकायों ने सरकारी आदेश बावजूद वार्डो में पीले डस्टबिन लगाने का इंतजाम नहीं किया। यह स्थिति तब है, जब छह अप्रैल को ही नगर विकास एवं आवास मंत्री सुरेश शर्मा ने सभी नगर निकायों को प्रत्येक वार्ड में तीन से पांच पीले डस्टबिन रखवाने के निर्देश दिया था। इसके लिए सरकार ने पांचवें वित्त आयोग के तहत 130 करोड़ रुपये की राशि भी मुहैया करा दी है।

बिहार के प्रवासी मजदूर की सहायता के लिए मुकेश सहनी ने शुरू किया सहायता योजना