सोमवार, फ़रवरी 26, 2024
होमखेलभारतीय खिलाड़ियों में बिहार की बेटी का कमाल, किया बिहार का नाम...

भारतीय खिलाड़ियों में बिहार की बेटी का कमाल, किया बिहार का नाम रोशन

फ्लोरिडा के ऑरलेंडो में आयोजित जूनियर एनबीए ग्लोबल बास्केटबॉल चैंपियनशिप में शानदार प्रदर्शन कर भारतीय खिलाडियों में शीर्ष पर रही बिहार की बेटी मुस्कान सिंह का बुधवार को पटना पहुंचने पर जोरदार स्वागत किया।

ऑरलेंडो के ईएसपीएन वाइड वल्र्ड ऑफ स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में 3 से 11 अगस्त तक चली इस प्रतियोगिता में हालांकि भारतीय टीम कोई मुकाबला नहीं जीत सकी, लेकिन मुस्कान ने बास्केटबॉल कोर्ट पर अपनी मौजूदगी दमदार तरीके से पेश की। विपक्षी को चकमा देना हो या फिर गेंद को बास्के करना, दोनों में लखीसराय की बेटी ने शानदार प्रदर्शन कर खूब वाहवाही लूटी। इसकी सराहनी विदेशी टीम के प्रशिक्षक और मीडिया ने भी किया। इस चैंपियनशिप में 13 से 14 साल के 75 देशों से तीन सौ खिलाडिय़ों ने भाग लिया, जिसमें भारतीय टीम की ओर से मुस्कान आकर्षण का केंद्र बनी रही।

बिहार की बेटी ने सबसे ज्यादा लिए 8.7 अंक

मुस्कान ने कुल पांच मैच खेले, जिसमें औसतन 8.7 अंकों के साथ वह भारतीय खिलाडिय़ों में सर्वश्रेष्ठ रही। दूसरे स्थान पर कप्तान मनमीत कौर को 5.7 अंक मिले। शोमिरा विद्या को 1.7 अंक से संतोष करना पड़ा।

राष्ट्रपति भवन के एट होम कार्यक्रम में बिहार के 6 स्वतंत्रता सेनानी सम्मानित

अफ्रीका के खिलाफ हुए लगातार दूसरे मुकाबले में भारतीय टीम को 57-36 से शिकस्त ङोलनी पड़ी। इसमें मुस्कान ने सबसे ज्यादा 11 अंक बटोरे। उसके मुकाबले ओशीन सिंह ज्यादा समय तक कोर्ट पर रही, लेकिन इसके बावजूद वह 8 अंक ही ले सकी। मौमिता को दो अंकों से संतोष करना पड़ा। दूसरी ओर, अफ्रीका की ओर से जाना इहाबु ने 24 अंक लेकर अपनी टीम को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई।

बिहार बास्केटबॉल एसोसिएशन समारोह में करेगा सम्मानित

पटना एयरपोर्ट पर जोरदार स्वागत से गदगद मुस्कान ने अपनी इस उपलब्धि का श्रेय अपने माता-पिता, प्रशिक्षक गोपाल सिंह राणा, कृष्णा मिश्र, अभिजीत यादव, धीरज रंजन और बिहार बास्केटबॉल संघ के सचिव सुशील कुमार को दिया। सुशील कुमार ने बताया कि खेल के मामले में हमारे राज्य से एक बेटी का शीर्ष पर पहुंचना सौभाग्य की बात है। जल्द ही पटना में मुस्कान को संघ की ओर से सम्मानित किया जाएगा। एनबीए के अनुभव के बारे में मुस्कान ने बताया कि युवा खिलाडिय़ों के लिए यह टूर्नामेंट सही प्लेटफार्म है। इसमें कड़ी मेहनत कर आप आगे की राह आसान कर सकते हैं। आपकी पहचान अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बनेगी और आप प्रोफेशनल लीग का हिस्सा बनकर शोहरत और पैसे दोनों कमा सकते हैं।

लखीसराय के सूर्यगढ़ा प्रखंड स्थित खैरा गांव निवासी बिहार पुलिस में कार्यरत घनश्याम सिंह की पुत्री मुस्कान ने कहा कि अफ्रीकी देशों से मुकाबले के लिए अब भी भारतीय खिलाडिय़ों को काफी अभ्यास करनी पड़ेगी। कुछ दिन ब्रेक लेने के बाद मैं भी गहन अभ्यास में जुट जाऊंगी। मेरा लक्ष्य सीनियर भारतीय महिला बास्केटबॉल टीम में प्रवेश पाना है। साथ ही एशियाड में मै बास्केटबॉल टीम को पदक दिलाना चाहती है।

Badhta Bihar News
Badhta Bihar News
बिहार की सभी ताज़ा ख़बरों के लिए पढ़िए बढ़ता बिहार, बिहार के जिलों से जुड़ी तमाम अपडेट्स के साथ हम आपके पास लाते है सबसे पहले, सबसे सटीक खबर, पढ़िए बिहार से जुडी तमाम खबरें अपने भरोसेमंद डिजिटल प्लेटफार्म बढ़ता बिहार पर।
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular