सोमवार, फ़रवरी 26, 2024
होमबिहारबिहार के विद्यालयों में छात्र-शिक्षक अनुपात सबसे खराब: मानव संसाधन विकास मंत्रालय

बिहार के विद्यालयों में छात्र-शिक्षक अनुपात सबसे खराब: मानव संसाधन विकास मंत्रालय

मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने हाल ही में एक रिपोर्ट जारी कर कहा है की बिहार में छात्र-शिक्षक का अनुपात पुरे देश में सबसे कम है। बिहार में प्रति छात्र-शिक्षक अनुपात 38 है, जबकि दिल्ली में 35। इस मामले में सिक्किम राज्य सबसे अच्छा है और वहां छात्र-शिक्षक अनुपात 4 है।

शिक्षा का अधिकार अधिनियम, 2009 अपनी अनुसूची में प्राथमिक और उच्च प्राथमिक स्कूलों दोनों के लिए शिष्य-शिक्षक अनुपात (PTR) निर्धारित किया है। प्राथमिक स्तर पर इसका मानदंड 30:1 है और उच्च प्राथमिक स्तर पर यह 35:1 है। एचआरडी मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “उच्च प्राथमिक स्कूलों में, बिहार में 39 का पीटीआर है, जबकि दिल्ली में 34 है। जबकि प्राथमिक स्कूलों में, बिहार में पीटीआर 38 और दिल्ली में 35 है।”

बिहार में 67.94 प्रतिशत प्राथमिक विद्यालय

बिहार के 8432 पंचायतों में बनेंगे एक-एक मॉडल स्कूल

बिहार में झारखंड के बाद PTR वाले स्कूलों का प्रतिशत सबसे ज्यादा है। अधिकारी ने बताया की, “बिहार में 67.94 प्रतिशत प्राथमिक विद्यालय और 77.86 प्रतिशत उच्च प्राथमिक विद्यालय में छात्रों और शिक्षकों का अनुपात कम है।” अधिकारी ने आगे बताया की “झारखंड में 50.28 प्रतिशत प्राथमिक विद्यालय और 64.24 प्रतिशत उच्च प्राथमिक विद्यालयों में प्रतिकूल पीटीआर हैं। देश के 26.45 प्रतिशत प्राथमिक विद्यालयों और 31.07 प्रतिशत उच्च प्राथमिक विद्यालयों में उपयुक्त छात्र-शिक्षक अनुपात नहीं है।”

ज्ञात हो की केंद्र सरकार ने 2018-19 से स्कूल शिक्षा के लिए एक एकीकृत योजना ‘समागम शिक्षा’ शुरू की थी, जिसमे सर्व शिक्षा अभियान, राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान और शिक्षक शिक्षा की पूर्ववर्ती केंद्र प्रायोजित योजनाओं को एक साथ शामिल कर इसपर शोध करता है।

समागम शिक्षा अभियान के तहत, केंद्र राज्य सरकारों और केंद्रशासित प्रदेशों को अतिरिक्त शिक्षकों के लिए स्कूली शिक्षा के विभिन्न स्तरों के लिए निर्धारित मानदंडों के अनुसार उपयुक्त छात्र शिक्षक अनुपात बनाए रखने के लिए सहायता प्रदान करता है। केंद्र सरकार लगातार विभिन्न मंचों पर राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के शिक्षकों की शीघ्र भर्ती और पुनर्वितरण के मामले को आगे बढ़ा रही है।

Badhta Bihar News
Badhta Bihar News
बिहार की सभी ताज़ा ख़बरों के लिए पढ़िए बढ़ता बिहार, बिहार के जिलों से जुड़ी तमाम अपडेट्स के साथ हम आपके पास लाते है सबसे पहले, सबसे सटीक खबर, पढ़िए बिहार से जुडी तमाम खबरें अपने भरोसेमंद डिजिटल प्लेटफार्म बढ़ता बिहार पर।
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular