बिना डॉक्टर के सलाह खांसी की दवा ले रहे लोग, खांसी की दवा की खपत बढ़ी

0
1505
bihar breaking news

बिहार में कोरोना संकट लगातार बढ़ रहा है। इसके कारण खांसी की दवा की खपत बढ़ गयी है। लोग थोड़ी सी खांसी होने पर तुरंत दवा पीने लग रहे हैं। कोरोना के कारण लोग डरे हुए हैं। जानकारी के अभाव और डर से लोग केमिस्ट के दुकान से दवा खरीद कर खुद पी रहे हैं। जबकि डॉक्टर लगातार खुद के इस्तेमाल से मना कर रहे हैं। उनका कहना है कि दवा का इस्तेमाल खुद न करें। लॉकडाउन के पूर्व की स्थिति में दवा की खपत बढ़ गई है। पहले के तुलना में 25 प्रतिशत अधिक खपत हो रही है।

इसके पीछे डॉक्टर कई कारण बता रहे हैं। उनका कहना है कि मौसम में बदलाव सर्दी खांसी की मुख्य वजह है। लोग गर्मी में एयर कंडीशनर में रहना पसंद करते हैं। इससे भी सर्दी-खांसी के मामले बढ़ रहे हैं। सर्दी खांसी के कारण लोग खुद दवा खरीद रहे हैं। इससे अचानक  खरीद में तेजी आई है। इससे दवा की खपत बढ़ गई है।

खांसी की दवा डॉक्टर के सलाह से लें

बिहार में जागरूकता कि कमी भी ऐसी समस्याओं के व्यवधान पैदा कर रही है। कोरोना से बचने के लिए दवा का इस्तेमाल कर रहे हैं। खांसी के मरीज कोरोना के डर से अपना इलाज खुद कर रहे हैं। ताकि जांच और कोरोना संक्रमित होने से बच सकें। ऐसा होने पर पूरा मोहल्ला सील होने का भी डर हो गया। ऐसे में कोरोना के डर और अज्ञानता के कारण डॉक्टर के यहां जाने से डर रहे हैं।

ऐसे में डॉक्टरों का कहना है कि अपने से दवा लेना काफी खतरनाक हो सकता है। ऐसे में खांसी और बुखार में कोरोना से फर्क करना मुश्किल है। एक डॉक्टर ही है जो फर्क कर सकता है। ऐसे में बिमारी होने पर घरेलू उपचार खतरनाक हो सकता है। ऐसे में डॉक्टर के संपर्क करना सही है। खांसी सर्दी होने पर कोरोना संक्रमण मानकर 14 दिन क्वारंटाइन रहना ही बेहतर है।

बिहार में कोरोना संक्रमित की संख्या बढ़ी, 230 नए संक्रमित पाए गए