Thursday, July 18, 2024
Homeबिहारगयाहैंड हेल्ड डिवाइस से कटेगा ई-चालान, ट्रैफिक नियमों में कैसे आएगी सख्ती

हैंड हेल्ड डिवाइस से कटेगा ई-चालान, ट्रैफिक नियमों में कैसे आएगी सख्ती

राज्य में सड़क सुरक्षा नियमों को प्रभावी बनाने का काम तेज कर दिया गया है। इसके लिए नियमों को और सख्ती से लागू करने के लिए प्रशासनिक स्तर पर भी तेजी लाई जा रही है। इस क्रम सभी नगर निगम स्तर पर भी हैंड हेल्ड से ई चालान की प्रक्रिया शुरू होगी। सभी ट्रैफिक थानों के ट्रैफिक डीएसपी, सब इंस्पेक्टर को हैंड हेल्ड डिवाइस (एचएचडी) दिया जाएगा। सभी ट्रैफिक थानों में मैनुअली चालान की प्रक्रिया पूरी से बंद कर दी जाएगी। अब सिर्फ एचएचडी से ही ई-चालान काटा जाएगा।

परिवहन सचिव श्री संजय कुमार अग्रवाल ने इस संबंध में जानकारी दी है। उन्होंने बताया कि राज्य में सड़क सुरक्षा नियमों को प्रभावी तरीके से लागू करने की दिशा काम चल रहा है। हैंड हेल्ड डिवाइस के माध्यम से सड़क सुरक्षा नियमों का उल्लंघन करने वाले वाहन चालकों को ऑनस्पॉट ई-चालान कटेगा।

सभी ट्रैफिक थानों में हैंड हेल्ड डिवाइस से कटेगा ई-चालान

अभी तक जिलों के सभी डीटीओ, एमवीआई, ईएसआई और पटना में ट्रैफिक पुलिस को ही ये यंत्र दिया गया था। अब ट्रैफिक थानों के डीएसपी को हैंड हेल्ड दिया जा रहा है। जिससे पूरी पारदर्शिता के साथ चालानिंग का कार्य किया जा सके।

परिवहन सचिव ने बताया कि पटना में हैंड हेल्ड का उपयोगम काफी कारगर हुआ हैं। डिवाइस में ट्रैफिक उल्लंघनकर्ता के फोटो खींचने की भी व्यवस्था है। इसके उपयोग से पारदर्शिता बढ़ी  है। इसके अलावा फर्जी चालान की शिकायतें समाप्त हुई हैं। जुर्माना होते ही लोगों के मोबाइल पर मैसेज से चला जा रहा है। इससे लोगों में कानून के प्रति आदर और विश्वास बढ़ा है।

सड़क सुरक्षा नियमों का उल्लंघन करने पर अब कोई भी कर भाग नहीं सकते हैं। इस डिवाइस में वाहन का नंबर डालने के बाद वाहन चालक/वाहन मालिक का पूरा डिटेल्स आ जाएगा। जुर्माने की राशि जमा नहीं करने की स्थिति में वाहन का ट्रांसर्फर, फिटनेस आदि कराते समय जानकारी मिल जाएगी। जब तक जुर्माने की राशि जमा नहीं करेंगे आगे का कार्य नहीं करा सकेंगे। इससे आदतन उल्लंघनकर्ताओं पर लगाम लगाया जा सकेगा।

हैंड हेल्ड डिवाइस के उपयोग से सड़क सुरक्षा नियमों का उल्लंघनकर्ताओं के सारे रिकार्ड जमा होते जाते हैं। बार-बार अपराध करने वाले व्यक्तियों के लाइसेंस रद्द किया जा सकता है। इसके अलावा 2 गुना फाइन लगाने की भी कार्रवाई की जा सकती है। इससे पूर्व यह पता नहीं चलता था कि उल्लंघनकर्ता द्वारा पूर्व में भी कोई अपराध किया गया है या नहीं।

[inline_posts type=”related” box_title=”” align=”alignleft” textcolor=”#000000″ background=”#d4d4d4″][/inline_posts]

नालंदा, गया, भोजपुर, सारण, मुजफ्फरपुर, दरभंगा, पूर्णिया, कटिहार, भागलपुर, मुंगेर और बेगूसराय जिले के ट्रैफिक थानों में हैंड हेल्ड डिवाइस की सुविधा होगी। पुलिस उपाधीक्षक, पुलिस निरीक्षक, पुलिस अवर निरीक्षक एवं सहायक अवर निरीक्षक को हैंड हेल्ड डिवाइस दिया जाएगा। प्रथम चरण में सभी जिलों के ट्रैफिक थाना के पुलिस पदाधिकारियों को हैंड हेल्ड उपलब्ध कराया जाएगा। हैंड हेल्ड डिवाइस देने के बाद सबको वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से ट्रेंनिंग दी जाएगी। सभी जिलों में परिवहन पदाधिकारियों द्वारा उसके उपयोग के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम भी आयोजित किया जायेगा।

Badhta Bihar News
Badhta Bihar News
बिहार की सभी ताज़ा ख़बरों के लिए पढ़िए बढ़ता बिहार, बिहार के जिलों से जुड़ी तमाम अपडेट्स के साथ हम आपके पास लाते है सबसे पहले, सबसे सटीक खबर, पढ़िए बिहार से जुडी तमाम खबरें अपने भरोसेमंद डिजिटल प्लेटफार्म बढ़ता बिहार पर।
RELATED ARTICLES

अन्य खबरें