पर्यावरण दिवसः रोजगार का विकल्प हो सकता है पर्यावरण

0
3045
bihar breaking news

5 जून को पूरे विश्व में पर्यावरण दिवस मनाया जाता है। हर साल की भाती इस साल भी पर्यावरण दिवस मनाया जा रहा है। लेकिन इस बार पर्यावरण दिवस की चुनौतियां भिन्न है। बिहार में विशेष रूप से इस बात पर ध्यान देने की आवश्यकता है। क्योंकि पर्यावरण हम सभी से संबंधित विषय है।

रोजगार के लिए पर्यावरण पर काम करना जरूरी है। सरकार ने इसके लिए योजनाओं पर काम करना शुरू कर दिया है। सरकार ने राज्य के विभिन्न हिस्सों में पेड़-पौधे लगाने की विशेष योजना बना रखी है। जिससे कि प्रवासी मजदूरों के लिए रोजगार पैदा किया जा सके। इसके अलावा पर्यावरण को हरा भरा बनाया जा सके।

पर्यावरण को अच्छा बनाने के लिए पेड़-पौधे लगाना आवश्यक हैं। लेकिन हमें फलदार पौधे लगाने पर विशेष ध्यान देना चाहिए। इससे हम भविष्य में रोजगार के रूप में पा सकते हैं। फलदार पौधों से निकलने वाले फल हर कोई के आमदनी का जरिया बन सकते हैं। इसके लिए सरकार ने कई योजनाएं पिछले वर्षों के दौरान भी चला रखी हैं। जिससे कि लोगों को फलदार पौधे लगाने के लिए प्रेरित किया जा सके।

पर्यावरण दिवस पर औषधिय पौधों से रोजगार को परखने की आवश्यकता

औषधियों का मांग आज कल जोर पकड़ रही है। पतंजलि सहित कुछ कंपनियों में इसकी खास मांग है। ये कंपनियां आज कल तो हमारे खेतों तक आकर किसानों से खरीद रही हैं। ऐसे में औषधीय पौधों की खेती हमारे लिए उपयुक्त रोजगार है। अब सरकार भी इसके लिए प्रयास कर रही है। लेकिन अब किसानों के लिए औषधीय पौधों की खेती पर ध्यान देना आवश्यक है।

इन सबको हम रोजगार के रूप में देख सकते हैं। लेकिन बिहार जैसे जगहों पर जहां जागरूकता की कमी है। वैसे जगह पर सरकार को लोगों को जागरूक करने की आवश्यकता है। लोगों को सरलता से संसाधन उपलब्ध हों इसका भी ख्याल रखना होगा। इसके अलावा उत्पादन को किसानों से खरीदने की व्यवस्था बनाने की आवश्यकता है। इसके साथ उसके उचित मूल्य मिलें इसका भी ख्याल रहे।

बाढ़ को लेकर सरकार सतर्क, पूर्व की तैयारियां शुरू