बिहार विधानसभा चुनाव 2020 को लेकर निर्वाचन आयोग का खास निर्देश जारी

0
1007
bihar breaking news

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 को लेकर गतिविधियां तेज हो गई हैं। इसको लेकर जहां पक्ष विपक्ष में आरोप प्रत्यारोप शुरू हो गया है। वहीं बिहार निर्वाचन आयोग ने भी तैयारियां शुरू कर दी हैं। संभावना है कि इस साल के अंत तक विधानसभा चुनाव 2020 की संभावना है। इसको देखते हुए निर्वाचन अधिकारियों ने काम शुरू कर दिया है। निर्वाचन विभाग ने सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिए हैं। जिलाधिकारियों को मतदान केंद्रों के फिजिकल वेरिफिकेशन करने के निर्देश दिए हैं।

राज्य निर्वाचन आयोग के मुताबिक मतदान केन्द्रों के लिए निर्देश दिए हैं। सभी जिलाधिकारियों को मतदान केन्द्रों का फिजिकल वेरिफिकेशन कर रिपोर्ट देना है। ताकि मतदान केन्द्रों पर मतदाताओं को सुविधाएं दी जा सके। जिलाधिकारियों को रिपोर्ट की सॉफ्ट कॉपी देने को कहा गया है। रिपोर्ट 22 जून तक सौंपने का निर्देश दिया गया है।

[inline_posts type=”related” box_title=”” align=”alignleft” textcolor=”#000000″ background=”#e3e3e3″][/inline_posts]

बिहार विधानसभा चुनाव के लिए मतदाता सूची पर भी होगा काम

बिहार चुनाव आयोग के मुख्य  निर्वाचन अधिकारी एचआर श्रीनिवासन हैं। उन्होंने इस संबंध में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि कोरोना संकट बीच प्रवासी बिहार लौटे हैं। उन्हें वोटर लिस्ट में शामिल किया जाएगा। इसके लिए विशेष अभीयान चलाया जाएगा। कई मजदूरों का वोटर नहीं हैं। उन्हें वोटर लिस्ट में शामिल किया जाएगा। एचआर श्रीनिवासन ने कहा कि अभी चुनाव में चार महीने की देरी है। कोरोना संक्रमण काल में चुनाव कराना चुनौती है। इसके लिए विशेष तैयारी चल रही है।

आयोग द्वारा चल रही तैयारियों में मतदाता सूची को लेकर जानकारी मिली। बिहार सरकार द्वारा जारी किए जा रहे आंकड़ों के अनुसार 20 से 25 लाख प्रवासी मजदूर वापस लौटें हैं। ऐसे में आयोग इन मजदूरों को मतदाता सूची सो जोड़ना चाहता है। इसके लिए विशेष अभियान चलाने की बात चल रही है। चुनाव आयोग यह समीक्षा कर रहा है कि कैसे इसपर काम हो। आने वाले समय में जल्द इसको लेकर चुनाव आयोग के निर्देश दिए जाएंगे। जिससे की उनका नाम मतदाता सूची में जोड़ा जा सके।

दीपक ने पटना एम्स में प्लाज्मा दान किया, बिहार-झारखंड के पहले डोनर